आरएस प्रसन्ना निर्देशित फिल्म ''शुभ मंगल सावधान'' पुरुषों में होने वाली इरेक्टाइल डिसफंक्शन बीमारी पर आधारित है। इसको लेकर निर्देशक प्रसन्ना कहते हैं कि फिल्म में अश्लीलता बिल्कुल भी नहीं है।

आयुष्मान खुराना और भूमि पेडनेकर स्टारर फिल्म ''शुभ मंगल सावधान'' के निर्देशक आरएस प्रसन्ना का कहना है कि फिल्म में बिल्कुल भी वलगेरिटी नहीं है। पीटीआई की खबर के मुताबिक प्रसन्ना कहते हैं, जिस प्रकार फिल्म 'पीकू' कॉन्स्टिपेशन और 'विक्की डोनर' स्पर्म डोनेशन थीम पर आधारित थी जिसे बड़े ही सरल और कॉमेडी के अंदाज़ में प्रस्तुत किया गया था उसी प्रकार ''शुभ मंगल सावधान'' में भी एेसा ही किया गया है।

प्रसन्ना ने बताया कि, फिल्म को कॉमिक फ्लेवर दिया गया है। इरेक्टाइल डिस्फंक्शन पर आधारित इस फिल्म को फनी अंदाज़ में बनाया गया है। यह फिल्म 2013 में आई प्रसन्ना की डायरेक्शन डेब्यू फिल्म 'कल्याना समयल साधम' का रीमेक है।

'शुभ मंगल सावधान' की कहानी मुदित और सुगंधा की है। मुदित नॉन कूल बॉय और सुगंधा नॉन हॉट गर्ल हैं। आपको बता दें कि, खास तौर पर फिल्म पुरुषों में होने वाली इरेक्टाइल डिसफंक्शन बीमारी पर है जिसे समाज में अच्छी नज़र से नहीं देखा जाता और बीमारी से ज़्यादा इसे कमज़ोरी के तौर पर देखा और समझा जाता है। यह फिल्म 1 सितंबर को सिनेमाघरों में दस्तक देगी। फिल्म के निर्माता आनंद एल राय हैं।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020