एक्टर Rishi Kapoor और फिल्ममेकर Rakesh Roshan करीबी दोस्त थे। समय कुछ ऐसा रहा कि दोनों को कुछ महीनों के अंतर में कैंसर का पता चला था। साल 2018 में अगस्त महीने में ऋषि कपूर को भयानक बीमारी का पता चला था, राकेश रोशन का कैंसर दिसंबर 2018 में डायग्नोज हुआ था। जैसे राकेश रोशन को ऋषि के निधन के बारे में खबर मिली तो उन्हें संभाल पाना मुश्किल हो गया था। ऋषि कपूर ने 30 अप्रैल को सुबह 8.45 बजे मुंबई के एचएन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल में अंतिम सांस ली था।

मिड डे में रिपोर्ट के अनुसार, ऋषि कपूर के निधन की खबर की पुष्टि उनके बेटे रणबीर कपूर ने की। कल सुबह की पूरी घटना के बारे में बताते हुए राकेश रोशन ने खुलासा किया कि उनके एक दोस्त ने उनसे ऋषि कपूर के स्वास्थ्य के बारे में पूछा। जिसके बाद उन्होंने रणधीर कपूर को फोन किया लेकिन दुर्भाग्य से उनका फोन कनेक्ट नहीं हुआ। फिर उन्होंने रणबीर को फोन लगाया और तब उन्होंने यह खबर दी। सुनकर वह रोने लगे। उनके मुताबिक रणबीर को सांत्वना देने के बजाय रणबीर ने उन्हें ढाढ़स बंधाया।

उन्होंने मिड डे के हवाले से कहा था, 'मैं आज सुबह एक दोस्त के मैसेज से जागा, पूछ रहा था कि क्या ऋषि कपूर बिलकुल ठीक थे। जब मैंने डब्बू (रणधीर कपूर) को फोन किया, तो उसका नंबर व्यस्त था। जब मेरा दिल घबराने लगा और मुझे लगने लगा कि कुछ गलत है। फिर मैंने रणबीर को फोन किया, जिसमे मुझे यह खबर की। यह इतना चौंकाने वाला था कि मैं फोन पर रोने लगा। मैं उसे सांत्वना देता, उसकी बजाए रणबीर ने मुझे दिलासा दिया। वह अपने पिता के लिए ताकत का स्तंभ रहा है।'

राकेश रोशन ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक तस्वीर शेयर की कि साल 2019 में ऋषि कपूर के भारत लौटने के बाद मिले थे। इस तस्वीर में ऋषि कपूर के भाई रणधीर कपूर और जितेन्द्र भी थे। उन्होंने फोटो शेयर करते हुए कैप्शन लिखा, 'ऋषि ने हमें छोड़ दिया ... चिंटू चला गया... अकेला महसूस कर रहा है, भगवान शक्ति दो।'

Posted By: Sonal Sharma

  • Font Size
  • Close