महान कलाकार कादर खान हमारे बीच नहीं रहे। लंबी बीमारी के बाद 81 साल की उम्र में कनाडा में उन्होंने अंतिम सांस ली। बहुत कम लोगों को पता है कि कादर खान ने अपने करियर की शुरुआत बतौर कहानीकार की थी। उन्होंने कुली, मुकद्दर का सिकंदर, लावारिस, शराबी और अमर अकबर एंथनी जैसी फिल्में लिखी हैं।

कादर खान के फिल्म लाइन में आने की कहानी भी बड़ी दिलचस्प है। इसके साथ ही उनका अमिताभ बच्चन से जुड़ा एक भावुक किस्सा भी मशहूर है। कादर खान का जन्म गरीब परिवार में हुआ था। परिवार की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए उन्होंने फैक्टरी में काम करने का फैसला किया, लेकिन उनकी मां ने कहा कि फैक्टरी में काम करने से गरीबी दूर नहीं होगी। तुम कलम थाम लो। इसके बाद से उन्होंने ड्रामा लिखना शुरू कर दिया था और फिर कई सुपरहिट फिल्में लिखीं।

'मुकद्दर का सिकंदर' भी कादर खान ने लिखी थी। एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया कि वे फिल्म की स्क्रिप्ट लेकर सेट पर पहुंचे तो वहां उनकी मुलाकात अमिताभ बच्चन से हो गई। अमिताभ ने देखा कि कादर खान ने गाने से पहले का एक डायलॉग पूरे 16 पेज का लिखा है। इस पर अमिताभ ने कहा, आपने तो पूरी किताब ही लिख डाली है। कादर खान का जवाब था कि उस स्पीच में उन्होंने अपनी पूरी कहानी लिख डाली थी। कादर खान ने जब इस स्पीच को अमिताभ को सुनाया तो उनकी आंखो में आंसू आ गए और इसके बाद अमिताभ ने कादर खान को कहा सर जी आप बहुत ग्रेट हो।