Sanjay Dutt और Amitabh Bachchan ने कई फिल्मों में साथ काम किया है। लेकिन एक वक्त ऐसा था जब संजय दत्त को लगता था कि उन्हें अमिताभ बच्चन के साथ काम नहीं करना चाहिए। लगभग 30 साल पहले की बात है। उस समय 1992 में आई में 'खुदा गवाह' को बनाने की बात चल रही थी। निर्माताओं की पहली पसंद संजय दत्त थे लेकिन वो इस फिल्म के लिए तैयार नहीं हुए क्योंकि इसमें अमिताभ बच्चन थे। मुकुल आनंद इस फिल्म को बना रहे थे और वो लंबे समय तक संजय दत्त के पीछे पड़े रहे कि वो इस फिल्म में काम कर लें।

तब संजय दत्त को बताया गया था कि अमिताभ बच्चन तो इस फिल्म में बतौर मेहमान कलाकार आएंगे। संजय दत्त यह मानने को ही तैयार नहीं थे कि अमिताभ के रहते इस फिल्म में उनके लिए कोई काम शेष रह जाएगा इसलिए उन्होंने हर बार काम करने से इनकार किया।

बाद में यह रोल नागार्जुन अक्कीनेनी को ऑफर हुआ। लेकिन प्रोडक्शन में हुई ढील पोल की वजह से आखिर में लीड रोल अमिताभ बच्चन को ही करना पड़ गया। बाद में संजय दत्त ने माना था कि उनका फैसला सही था इस फिल्म को रिजेक्ट करने का।

इसके कई साल बाद संजय दत्त खुद अमिताभ बच्चन के पास गए थे और उन्हें 'कांटे' में काम करने के लिए मनाया था। 'खुदा गवाह' की बात करें तो इस फिल्म के गाने जबरदस्त हिट हुए थे लेकिन फिल्म फ्लॉप हो गई थी। हालांकि यह श्रीदेवी और डैनी के रोल के कारण काफी चर्चा में भी रही। बाद में संजय दत्त ने अमिताभ बच्चन के साथ 'दीवार', 'अलादीन', 'एक अजनबी' और 'शूटआउट एट लोखंडवाला' जैसी समेत कुछ फिल्में भी कीं। दोनों के संबंध कभी खराब नहीं रहे।

Posted By: Sudeep Mishra

  • Font Size
  • Close