भारतीय सिनेमा के इतिहास में शोले (Sholay) फिल्म का अलग ही नाम है। साल 1975 में बनी यह फिल्म भारत की सबसे सफल फिल्मों में से एक है। इसमें हेमा मालिनी, अमिताभ बच्चन, धर्मेंद्र, अमजद खान, जया बच्चन और कई अन्य बेहतरीन कलाकारों ने काम किया था। रमेश सिपी के निर्देशन में बनी यह फिल्म अपनी सिल्वर जुबली पूरी करने वाली पहली फिल्म थी। यह फिल्म एक थिएटर में लगातार 25 हफ्तों तक लगी रही थी। लेकिन आपको शायद ही पता हो कि इस फिल्म को शुरुआत में समीक्षकों ने फ्लॉप करार दिया था।

फिल्म समीक्षकों का लेख पढ़ने के बाद फिल्म के लेखक सलीम खान और जावेद अख्तर ने एक विज्ञापन प्रकाशित कराया था, जिसमें कहा गया था कि यह फिल्म एक करोड़ से ज्यादा का कारोबार करेगी। आगे चलकर इस फिल्म ने इससे दोगुनी कमाई की थी।

समीक्षकों ने फिल्म को बताया था फ्लॉप

एक अंग्रेजी वेबसाइट की पुरानी रिपोर्ट के अनुसार, एक इंटरव्यू में शोले के सह-लेखक सलीम खान ने बताया था कि फिल्म को विश्लेषकों ने फ्लॉप करार दिया था। उन्होंने कहा था, "हां यह सच है जब फिल्म रिलीज हुई थी तब बॉलीवुड के ट्रेड पंडितों ने फिल्म को राइट ऑफ कर दिया था। इस फिल्म के फ्लॉप होने के कारणों की जांच करने वाले लेखों की एक श्रृंखला भी पत्रिकाओं में प्रकाशित हुई थी।"

सलीम खान और जावेद अख्तर को था भरोसा

नेगेटिव रिव्यू के बावजूद सलीम खान और जावेद अख्तर को शोले फिल्म पर भरोसा था। उन्होंने आगे कहा, "लेकिन मैं और जावेद साहब फिल्म की सफलता के बारे में इतने आश्वस्त थे कि नकारात्मक रिपोर्टों के जवाब में हमने सभी पत्रिकाओं में एक फुल पेज विज्ञापन प्रकाशित किया था, जिसमें घोषणा की गई थी कि फिल्म भारत के प्रत्येक क्षेत्र में 1 करोड़ का कारोबार करेगी।"

फिल्म ने की दोगुनी कमाई

सलीम खान ने स्वीकार किया कि वे गलत थे और कहा, "वास्तव में हमारी भविष्यवाणी भी गलत थी… क्योंकि फिल्म ने 1 करोड़ का कारोबार नहीं किया ... लेकिन इसने भारत के प्रत्येक क्षेत्र में 2 करोड़ से अधिक का कारोबार किया।" वेबसाइट के अनुसार, शोले ने कुल 15 करोड़ रुपये की कमाई की थी। अगर आज की टिकट कीमतों के आधार पर देखा जाए तो इस फिल्म ने 160 करोड़ रुपये से अधिक की कमाई की थी। रमेश सिप्पी निर्देशित इस फिल्म को आज भी युवा और बूढ़े अपनी अविश्वसनीय कहानी, संवाद, गाने और प्रदर्शन के लिए देखते हैं।

Posted By: Arvind Dubey