Sushant Singh Rajput ने मुंबई में अपने घर में संडे को फांसी लगाकर जान दे दी। इसके बाद से ही उनके बारे में नई - नई बातें बाहर आ रही हैं। ये बातें हैं पुरानी लेकिन अब बाहर आ रही हैं तो नई लग रही हैं। अब पता लगा है कि 2012 में आई फिल्म Hate Story में उन्हें फिल्मी दुनिया में आने का रास्ता मिल गया था लेकिन Ekta kapoor की कंपनी 'बालाजी टेलीफिल्म्स' ने उन्हें छोड़ा नहीं। वो उस वक्त बालाजी के लिए उनका सीरियल कर रहे थे।

ये बात इस तरह बाहर आई है... हुआ यूं कि सुशांत के जाने के बाद सभी सेलेब्स सोशल मीडिया पर कुछ ना कुछ पोस्ट कर रहे हैं। ऐसे में निर्देशक विवेक अग्निहोत्री ने भी अपने ट्विटर हैंडल पर एक स्केच पोस्ट किया और लिखा ''मैं सुशांत सिंह राजपूत को ऐसे देखता हूं।''

इस पोस्ट पर किसी ने रिप्लाई किया 'वो जब जिंदा था कुछ मूवीज ऑफर कर सकते थे आप'। इस जवाब पर विवेक की निगाह पड़ गई। उन्होंने तुरंत इसका जवाब दिया 'मैंने उन्हें Hate Story के लिए साइन कर लिया था। वो उनका पहला मूवी कॉन्ट्रेक्ट था। लेकिन बालाजी ने उन्हें छोड़ा नहीं।'

बता दें कि टीवी पर सुशांत को एकता कपूर के बालाजी टेलीफिल्म्स बैनर तले ब्रेक मिला था। फिर दूसरे टीवी शो 'पवित्र रिश्ता' ने उन्हें घर - घर में प्रसिद्ध किया। इसमें उनकी जोड़ी अंकिता लोखंडे के साथ बनी थी। 2012 में भले ही उन्हें बॉलीवुड ब्रेक नहीं मिला हो लेकिन अगले साल उन्हें 'काई पो छे' मिल गई थी और वो फिल्मी परदे पर छा गए थे।

Posted By: Sudeep Mishra

  • Font Size
  • Close