Web Series Mirzapur और Hostages की एक्ट्रेस Anangsha Biswas ने डिप्रेशन पर खुलकर बात कही है। उनका मानना है कि अगर आप इमोशनल हैं, संवेदनशील हैं तो डिप्रेशन से बच नहीं सकते। उन्होने माना है कि वो डिप्रेशन को बेहद करीब से पहचानती हैं। हाल ही में अनंग्षा बिस्वास, सौमित्र सिंह के पोएटिक सीरीज 'मैंने अनुभव से सीखा है' के कारण चर्चा में रही थीं। उन्हें मिर्जापुर के पहले सीजन से भी खासी पहचान मिली और अब वो दूसरे सीजन में भी ज्यादा देर के लिए नजर आने वाली हैं।

Anangsha Biswas का कहना है 'मेरा आत्मसम्मान कमजोर था, खुद की इज्जत भी नहीं करती थी। मैं नहीं जानती थी कि खुद को प्यार कैसे किया जाता है। दूसरों का मेरे प्रति रवैया ही मुझे दुखी या खुश करता था। मैं जानकारी की भूखी हूं लेकिन शर्मिली हूं और दिल से सिंपल हूं।'

Anangsha Biswas को अक्सर अकेलापन महसूस होता था और वो हर जगह खुद को मिसफिट समझती थीं। वो कहती हैं 'मैं अंधकार में थी। मैं हूं भी और मुझे कहा भी जाता है कि मैं अच्छी एक्टर हूं लेकिन मुझे ऑडिशन के लिए बुलाया नहीं जाता था। यह बात मुझे अंदर ही अंदर खाए जाती थी। मेरी सबसे अच्छी बात यह थी कि मैंने कभी भी खुद को मोहरा नहीं समझा। मैं हमेशा ही अपने दर्द का इलाज जानती थी और इस बात का अहसास भी था कि मैं ही मेरी मदद कर सकती हूं। मुझे मेरी बड़ी बहन और पिता से भी मदद मिली।'

वो कहती हैं 'योग और मेडिटेशन ने भी मदद की। खुद को समझना, खुद से प्यार करना, खुद से बात करना... डिप्रेशन के बारे में जानना ही इससे लड़ने का तरीका है। स्वस्थ दिमाग ही स्वस्थ जीवन बनाए रखता है। मैं ही खुद की सबसे अच्छी दोस्त हूं और अब मुझे मिसफिट होना अखरता भी नहीं है।'

Posted By: Sudeep Mishra

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Ram Mandir Bhumi Pujan
Ram Mandir Bhumi Pujan