Jaya Bachchan ने हाल ही में अपना जन्मदिन अकेले दिल्ली में मनाया क्योंकि लॉकडाउन के कारण वो मुंबई नहीं लौट सकीं। अपने परिवार को मुसीबत के वक्त कभी अकेला नहीं छोड़ने वाली जया बच्चन के लिए लॉकडाउन वाले यह दिन वाकई मुश्किलों भरे होंगे, इस बात को समझा जा सकता है। इस दूरी का उन पर क्या सितम हो रहा होगा, इस बात का अंदाजा एक किस्से से लगाया जा सकता है जो खुद जया ने सिमी ग्रेवाल के शो में सुनाया था। जया ये राज तब खोला जब सिमी ग्रेवाल, Amitabh Bachchan के मशहूर कुली एक्सिडेंट के बारे में बात कर रही थीं।

जब सिमी ने जया से पूछा कि उस वक्त आप किन परिस्थिति से जूझ रही थीं तो जया ने बताया था 'रिश्तेदार और डॉक्टरों ने मुझे ढांढस बंधाना शुरू कर दिया था। वो दो अगस्त का दिन था। सब कह रहे थे तुम्हें बहादुर बनना होगा वगैरह वगैरह...। डॉक्टर सारी कोशिश कर चुके थे। पम्पिंग से लेकर तमाम तरह के इंजेक्शन देने तक सब... लेकिन अमित के शरीर में कोई हरकत नहीं थी। वो लोग हार चुके थे, मैं अकेली उनके पास खड़ी थी। कुछ ही देर में मैंने उनके पैर का पंजा हिलते हुए देखा। मैं जोर से चिल्लाई... वो हिले ... वो हिले... सब डॉक्टर दौड़कर आए और फिर कोशिश की, उन्हें मसाज दिया। अब जान लौट चुकी थी।'

इस किस्से के आखिर में जया ने सिमी को जो बात बताई वो उनके बच्चों को भी नहीं पता थी। ये बात सुनकर वाकई रोंगटे खड़े हो जाते हैं। जया ने आगे कहा 'आपको जानकर आश्चर्य होगा जिस वक्त अमिताभ ठीक हुए, उसी दिन... उसी वक्त उस आईसीयू में एक आदमी की मौत हुई। और उस इंसान की जन्म तारीख भी 11 अक्टूबर 1942 थी।'

बता दें कि अभिषेक बच्चन और श्वेता बच्चन भी इस शो में मौजूद थे। इसी के बाद से अमिताभ दो जन्मदिन मनाते हैं, वो 2 अगस्त को भी सेलेब्रेट करते हैं।

Posted By: Sudeep Mishra

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना