Pankaj Tripathi: पंकज त्रिपाठी समय के साथ-साथ ओटीटी के किंग बनते जा रहे हैं। वे एक ऐसा नाम है जिसे आज हर कोई जानता है। वे एक शानदार एक्टर हैं। उन्होंने मिर्जापुर से कालीन भैया के रूप में अपने ओटीटी करियर की शुरुआत की थी। एक्टर ने कई सारे शानदार परफार्मेंस दिए हैं। सेक्रेड गेम्स और क्रिमिनल जस्टिस दो ऐसे वेब शो हैं जो उनके करियर के लिए गेम चेंजर साबित हुए हैं। इन सभी ने उनके फिल्मी करियर को काफी आगे पहुंचा दिया है। उन्होंने सिल्वर स्क्रीन पर भी अपनी धमाकेदार परफॉर्मेंस दी हैं। वे खुद भी यह बात मानते हैं कि ओटीटी ने उनके करियर को पूरी तरह बदल दिया है। हाल ही में पंकज त्रिपाठी ने ओटीटी के हाईएस्ट पेड एक्टर होने की बात पर कुछ खुलासे किए हैं।

ओटीटी के हाईएस्ट पेड एक्टर पंकज त्रिपाठी

हाल ही में पंकज त्रिपाठी अपनी आने वाली फिल्म 'शेरदिल' के लिए एक खास बातचीत में पहुंचे थे। वहीं उन्होंने अपनी फीस को लेकर कई सारे खुलासे किए थे। जब उनसे ये सवाल किया गया कि क्या वे सच में ओटीटी के हाईएस्ट पेड एक्टर हैं। तो उन्होंने इसके जवाब में कहा कि 'मैं अपने आप को कैसे हाईएस्ट पेड एक्टर कह सकता हूं जबकि मुझे पता ही नहीं है कि बाकी लोगों को कितनी फीस मिलती है। और पैसे वैसे तो ये हाथ का मैल है बाबा। बस पानी और साबुन चाहिए धुल जाएगा। जरूरी यह है कि आपकी इन सबके बीच की यात्रा और कहानी कैसी है और मैं फिलहाल इन्हीं बातों पर अपना फोकस रख रहा हूं न कि उन बातों पर ध्यान दे रहा हूं कि मैं हाईएस्ट पेड एक्टर हूं।'

‘सैलरी को एक ट्रेंड बना दिया गया’

आगे बात करते हुए पंकज त्रिपाठी ने इस बात पर अपनी निराशा जताई कि बाॅक्स ऑफिस और एक्टर की फीस एक ट्रेंड न्यूज बन गए हैं। इसके बारे में उन्होंने बात करते हुए कहा कि 'हम लोग इस बारें में खबरें बना ही क्यों रहे हैं कि किस एक्टर की कितनी फीस है और बाॅक्स ऑफिस कहां पर हैं। यह एक आम आदमी के लिए कैसे जरुरी है। अगर मैं एक हाइएस्ट पेड एक्टर हूं भी तो यह एक आम आदमी पर क्या ही असर डालेगा। एक फिल्म के बिजनेस ने उनका क्या लेना देना है। या तो वे फिल्म पसंद करेंगे या फिर नहीं। हालांकि मैं यह जानता हूं कि यह सब किसी व्यक्ति या फिल्म के लिए विज्ञापन करने का तरीका है।

लेकिन मैं इन सबमें अपनी बहुत अलग सोच रखता हूं।' वहीं अपनी नेट वर्थ को लेकर आई एक खबर के बारे में बात करते हुए कहा कि 'मेरे बारे में इंटरनेट पर बहुत कुछ लिखा गया है मैंने उसे पढ़ा। मैं एक बार किसी कार के सामने खड़ा था और लोगों ने यह मान लिया कि वह मेरी कार है। मैं एक इलेक्ट्रिक कार में सफर करता हूं। आज इस शूट के लिए भी मैं उसी कार में आया हूं। वैसे भी नेटवर्थ क्या ही है। आपकी जुबान ही आपकी असली नेट वर्थ बताती है कि आप कैसी बातें करते हैं। मेरे लिए नेटवर्थ मेरी जनता है।'

'मैं कही भी जाता हूं तो लोगों का मेरे प्रति प्रेम देखता हूं और वहीं सभी चीजों से बढ़कर है। वहीं मेरी सबसे बड़ी कमाई है। गाड़ी वगैरह ये सब चीजें मात्र है यह पैसों से आते हैं लेकिन दर्शकों का प्रेम पैसों से नहीं आता है। और यह प्रेम आपकी कलाकारी, आपके आचरण पर निर्भर करता है।'

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close