बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी के पति बिजनेसमैन राज कुंद्रा की गिरफ्तारी के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। कई मीडियो रिपोर्ट्स में बताया जा रहा है कि मुंबई पुलिस ने इसी साल फरवरी के महीने में ही राज कुन्द्रा को गिरफ्तार करने की तैयारियां कर ली थी, लेकिन इसी समय एंटीलिया केस आ गया और पुलिस लंबे समय तक इस मामले में उलझी रही। 5 महीने बाद जब एंटीलिया केस सुलझा तब जाकर पुलिस ने राज कुन्द्रा को गिरफ्तार किया है।

क्या था एंटीलिया केस

देश के सबसे बड़े बिजनेसमैन और भारत के सबसे अमीर इंसान मुकेश अंबानी के घर एंटीलिया के सामने एक गाड़ी खड़ी की गई थी, जिसमें जिलेटिन रॉड रखी थीं। इसके साथ ही मुकेश अंबानी के लिए धमकी भरा एक पत्र भी रखा था। इस मामले की जांच शुरू हुई तो मुंबई पुलिस के अधिकारी सचिन वाजे और मनसुख हिरेन का नाम भी इसमें सामने आया था। बाद में वाजे इसके मुख्य आरोपी भी बने। इन दोनों अधिकारियों की वजह से मुंबई पुलिस की काफी फजीहत हुई थी।

वाजे की वजह से बचे रहे कुंद्रा

सचिन वाजे और मनसुख हिरेन का नाम एंटीलिया केस में आने के बाद मुंबई के पुलिस कमिश्नर को बदल दिया गया और नए कमिश्नर ने आते ही कई बड़े बदलाव किए। इस दौरान क्राइम ब्रांच के कई अधिकारियों का ट्रांसफर कर दिया गया, जिसमें राज कुंद्रा के केस की जांच कर रहे पुलिस अधिकारी भी शामिल थे। नए अधिकारियों को कार्यभार संभालने और पूरा मामला समझने में भी समय लगा इसी वजह से राज कुन्द्रा अभी तक बचे रहे।

4 फरवरी को हुई थी पहली शिकायत

इस मामले में पहली शिकायत 4 फरवरी को हुई थी, जिसके बाद कुछ आरोपियों को गिरफ्तार भी किया गया था और जांच में राज कुन्द्रा का नाम सामने आया था। उनके खिलाफ सबूत भी थे, लेकिन एंटीलिया केस की वजह से उनकी गिरफ्तारी में 5 महीने लग गए। खबरों के अनुसार जल्द ही राज कुंद्रा का पूरा बिजनेस मॉडल सामने आने वाला है जिससे यह साफ हो जाएगा कि वो कैसे अपने सीक्रेट बिजनेस को छुपाने के लिए रिश्वत दे रहे थे।

23 जुलाई तक पुलिस कस्टडी में हैं राज कुंद्रा

राज कुंद्रा को गंदी फिल्में बनाने के मामले में एस्प्लेनेड कोर्ट ने 23 जुलाई तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया है। जब उन्हें भायकला जेल ले जाया जा रहा था तब वे काफी मायूस नजर आए। इस दौरान उन्होंने किसी के सवालों के जवाब भी नहीं दिए। मुंबई पुलिस अक्सर भायकला में ही आरोपियों को रखती है और यहीं उनसे पूछताछ की जाती है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags