Sushant Rajput Case: बॉलीवुड एक्टर Sushant Rajput की मौत के मामले में रोज नई बातें सामने आ रही है। सुशांत राजपूत के कमरे का ताला तोड़ने वाले मोहम्मद रफी शेख ने दो माह बाद चुप्पी तोड़ी है। रफी ने कहा कि उसे ताला तोड़ने के बाद कमरे के अंदर नहीं जाने दिया गया था और

वह अंदर कुछ भी नहीं देख पाया था।

मोहम्मद रफी ने कहा, मुझे सिद्धार्थ पिठानी ने 14 जून को दोपहर दोपहर 1 बजे के करीब फोन कर दरवाजे का लॉक तोड़ने को बुलाया था। उस दिन रविवार था और लॉकडाउन भी चल रहा था। मैंने उन्हें कहा कि मुझे दरवाजे के लॉक का फोटो भेजो। पहले उन्होंने एक खुले हुए दरवाजे का फोटो भेजा, इस पर मैंने कहा कि जिस दरवाजे का ताला खोलना है, उसका फोटो भेजो। जब मुझे फोटो मिला तो मैंने कहा कि यह कंप्यूटराइज्ड लॉक है और इसे खोलने में कम से कम दो हजार रुपए लगेंगे।

रफी ने कहा, मैं करीब आधे घंटे में वहां पहुंचा, घर में तीन-चार लोग मौजूद थे। मुझे तो इस बात की कोई जानकारी भी नहीं थी कि मैंने जिसके कमरे का लॉक तोड़ा वह किसका था। वह लॉक खुल नहीं रहा था, मैंने कहा कि इसे खोलने में आधे से एक घंटे का समय लगेगा, इस पर उन्होंने कहा कि इसे तोड़ दो। इसके बाद मैंने हथोड़े और छुरे की मदद से ताला तोड़ा। जैसा ही ताला टूटा तो मैंने दरवाजे को खोलना चाहा तो उन्होंने मुझे रोक दिया और कहा कि आप अपना सामान लेकर चले जाओ। मैं तो कमरे के अंदर देख भी नहीं पाया। उन्होंने मुझे 2 हजार रुपए देकर वापस भेज दिया। वे सभी रिलेक्स लग रहे थे।

रफी ने कहा, इसके एक घंटे बाद मुझे सिद्धार्थ पिठानी के फोन से फिर कॉल आया और मुंबई पुलिस ने वापस सुशांत के फ्लैट पर बुलाया। इस बार जब मैं वहां पहुंचा तो मुझे मालूम पड़ा कि वह सुशांत राजपूत का फ्लैट है।

मोहम्मद रफी का बयान सुशांत सिंह राजपूत के कुक नीरज के बयान से मेल खाता है।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Assembly elections 2021
Assembly elections 2021
 
Show More Tags