सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस की जांच जारी है। सीबीआई के साथ ही ईडी ने भी मोर्चा संभाल लिया है। इस बीच, अभिनेता से जुड़ा एक पुराना वीडियो सामने आया है। यह वीडियो 9 अप्रैल 2019 का है। उस दिन सुशांत सिंह ने अपने परिवार के साथ काल सर्प दोष पूजा (Kaal Sarp Dosh Puja) की थी। वीडियो में सुशांत सिंह की बहन और बहनोई भी पूजा में बैठे नजर आ रहे हैं। वीडियो में रिया चक्रवर्ती नजर नहीं आ रही हैं। वीडियो सुशांत सिंह के बांद्रा स्थित प्लेट का बताया जा रहा है। पूजा करते समय सुशांत सिंह खुश नजर आ रहे हैं। नीचे देखिए वीडियो

बता दें, सुशांत सिंह राजपूत भगवान भोले के बड़े भक्त थे। उनकी और पूरे परिवार की भगवान में गहरी आस्था थी। यह Kaal Sarp Dosh Puja महाराष्ट्र के त्रयंबकेश्वर से बुलाए गए पंडितों ने करवाई थी। पूजा करवाने वाले नारायण शास्त्री का कहना है कि उस दिन सुशांत बहुत खुश नजर आ रहे हैं, लेकिन रिया चक्रवर्ती कहीं नजर नहीं आई। पूजा पूरी करने के बाद सुशांत ने सभी पंडितों के साथ फोटो भी खिंचवाई थी। पूजा में चार से पांच घंटे लगे थे और पूरे समय सुशांत भक्ति में मग्न नजर आए। तब उनके हावभाव में कोई तनाव नहीं था।

Kaal Sarp Dosh Puja क्यों करवाई जाती है

हिंदू मान्यताओं में Kaal Sarp Dosh Puja का बड़ा महत्व है। काल सर्प दोष निवारण के लिए यह पूजा की जाती है। माना जाता है कि इस पूजा के बाद विवाह से लेकर संतान प्राप्ति तक के फल प्राप्त होते हैं। आमतौर पर शादी से पहले कुंडली देखी जाती है और काल सर्प दोष होने पर इसके निवारण के लिए त्रयंबकेश्वर के साथ ही उज्जैन में पूजा करवाई जाती है।

धार्मिक शास्त्रों के अनुसार, कुंडली में सूर्य, चंद्र और गुरु के साथ राहू के होने को कालसर्प दोष माना जाता है। राहू का अधिदेवता काल है और केतु का अधिदेवता सर्प है। दोनों ग्रहों के बीच कुंडली में एक तरफ सभी ग्रह हों तो कालसर्प दोष माना जाता हैं।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020