Malang Movie Review : मोहित सूरी की 'मलंग' अब सिनेमाघरों में है। इसमें आदित्य रॉय कपूर, Disha Patani ने काम किया है और साथ में अनिल कपूर भी हैं। यह घोर कमर्शियल फिल्म है, जिसमें युवाओं को बांधे रखने के लिए सारे मसाले डाले गए हैं। फिर भी यह फिल्म दिमाग पर जोर देने पर मजबूर नहीं करती है। लगभग सवा दो घंटे की लंबाई है, लेकिन बीच में कुछ ऐसे लम्हें आते हैं जब आप बोर होते हैं। बुरी बात यह है कि आपको यह अच्छी तरह से पता होता है कि आगे क्या होने वाला है, एक-आध जगह ही आप चौंकते हैं।

निर्देशक मोहित सूरी ने पूरी कोशिश की है इसे मनोरंजक बनाने की लेकिन कुछ जगह वो फेल हो जाते हैं। इमोशन कमजोर हैं, रोमांस ठीक-ठाक है, एक्शन औसत है और थोड़ा-सा थ्रिल है। फिल्म की कहानी में दो किरदार हैं... अद्वैत और सारा... अद्वैत का रोल किया है आदित्य रॉय कपूर ने और सारा का किरदार है दिशा पाटनी के पास। दोनों आपस में गोवा में मिलते हैं। दोनों का जिंदगी अलग-अलग दिशा से लाती है, फिर साथ चलने लगते हैं।

एक बात दोनों में कॉमन है, वो यह कि दोनों का रिश्तों पर कोई भरोसा नहीं है। दोनों तय करते हैं कि जिंदगी में परिवार नहीं बनाएंगे लेकिन मस्ती खूब करेंगे। यह कहानी थोड़ी दूर तक इमोशन और रोमांस के सहारे बढ़ती है लेकिन फिर थ्रिलर में बदल जाती है। थ्रिलर की राह पर यह बढ़िया चलती है। आखिरी में नपुंसकता की कहानी में यह तब्दील हो जाती है।

निर्देशक मोहित सूरी को कहानी कहना आता है, वो रहस्य और ग्लैमर का तड़का बढ़िया लगा लेते हैं। बदले की कहानी का स्क्रीनप्ले मजबूत है जो इसे बचा ले जाता है। डायलॉग के मामले में फिल्म वजनदार है। अनिल कपूर इसे और बेहतरीन बनाते हैं, इंस्पेक्टर आगाशे की भूमिका में वो असरदार हैं। उनकी दादागिरी पूरी फिल्म पर छाई हुई है। कुणाल खेमू ने भी अपना रोल शानदार तरीके से किया।

अद्वैत के रोल को आदित्य राय कपूर काफी अलग कहा जा सकता है, ऐसा रोल अभी तक आदित्य ने नहीं किया था। सारा को जोरदार रोल मिला था, और वो अच्छा कर भी गईं। दिशा पटानी ग्लैमरस तो हैं ही, उनकी फैन फॉलोइंग भी तगड़ी है।

फिल्म का ज्यादातर हिस्सा गोआ में ही फिल्माया गया है। कैमरा अच्छे से नजारे दिखाता है। एडिटिंग टाइट है। गाने और बैकग्राउंड स्कोर दोनों परेशान नहीं करते हैं, कुछ गाने और अच्छे हो सकते थे। धुनें तो सभी सुनी हुई लगती हैं, बस टाइटल ट्रैक अच्छा है।

कुलमिलाकर 'मलंग' को एक बार देखा जा सकता है। फिल्म को एडल्ट सर्टिफिकेट मिला है इसलिए परिवार इससे दूर ही रहे तो बेहतर।

- पराग छापेकर

Posted By: Sudeep mishra

fantasy cricket
fantasy cricket