ऐसी फिल्में कम ही बनती हैं जो आपको दिल से रुलाती हैं दिल से हंसाती हैं। आपके दिलो-दिमाग में पड़े कचरे को झकझोर कर साफ करने पर मजबूर करती है!

यह कहानी है बनारस की गंगा जमुनी संस्कृति में रहने वाले एक मुस्लिम परिवार की जिसके मुखिया है मुराद अली मोहम्मद( ऋषि कपूर)। इस संयुक्त परिवार में रहने वाले सभी सदस्य एक दूसरे से बेहद प्यार करते हैं मगर आपके छोटे भाई बिलाल मोहम्मद( मनोज पाहवा) का बेटा शाहिद (प्रतीक बब्बर) रास्ते से भटक जाता है और मारा जाता है। इसके बाद इस परिवार पर किस तरह की आफत टूट पड़ती है और यह परिवार उससे बाहर कैसे आता है इसी ताने-बाने पर बुनी गई है फिल्म मुल्क।

निर्देशक अनुभव सिन्हा की पकड़ पूरी फिल्म पर साफ नजर आती है! मुल्क नाम की इस यात्रा में मुराद अली वह आप को हंसाते हैं रुलाते हैं। अपनी मर्जी से दर्शकों को जहां चाहे ले जाते हैं! फिल्म की पहली फ्रेम से आखरी प्रेम तक पकड़ जरा भी ढीली नहीं होती।

अनुभव के सधे हुए निर्देशन में चार चांद लगाते हैं उनके अभिनेता! ऋषि कपूर पूरी फिल्म में कहीं भी नजर नहीं आते नजर आते हैं तो सिर्फ मुराद अली! मनोज पाहवा के शानदार अभिनय कि यह लाजवाब पारी है! तापसी पन्नू वैसे ही एक समर्थ अभिनेत्री है मगर मुल्क उनकी अब तक की सबसे बेहतरीन फिल्म है! आशुतोष राणा की शानदार वापसी, कुमुद मिश्रा की सशक्त उपस्थिति और साथ में नीना गुप्ता, अतुल तिवारी. रजत कपूर. प्राची शाह जैसे मजबूत कलाकारों की उपस्थिति फिल्म को एक अलग ही स्तर पर ले जाती है।

यह फिल्म आज के दौर में इतनी सामयिक है कि लगता है आप फिल्म नहीं आज के समाज को आईने में देख रहे हैं या निर्देशक इस भटके हुए समाज को सच्चाई का आइना दिखा रहा है।

एक शानदार जिम्मेदार संदेश के साथ साथ मनोरंजन से भरी इस फिल्म को आप परिवार के साथ देख सकते हैं! अगर आपको सिनेमा के कंटेंट को लेकर शिकायत हो तो आपको यह फिल्म जरूर देखना चाहिए! अगर आप यह फिल्म नहीं देखेंगे तो आप एक अच्छा सिनेमा मिस करेंगे।

- पराग छापेकर

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket