तीन दशक पहले संडे को कई बच्चों की नींद ही उस गाने से खुलती थी जो सुबह के वक्त शहर और गांव की गलियों में गूंज रहा होता था। ये गाना था मशहूर कार्टून शो The Jungle Book का 'जंगल जंगल बात चली है पता चला है, चड्डी पहन के फूल खिला है'। अब जब बीते बुधवार को दूरदर्शन पर इस शो को फिर शुरू किया गया है तो यह गाना गायब है। इसकी जगह एक अलग ही टाइटल गीत के साथ दूरदर्शन पर इस शो को फिर शुरू किया गाया है। उस मशहूर गाने के गायब होने से लोग गुस्सा हो रहे हैं। बता दें कि यह शो अपने इस गाने के लिए भी मशहूर था।

इस गाने को नामी गीतकार-फिल्मकार गुलजार ने लिखा था। अब जब लोगों को यह गाना नहीं सुनाई दे रहा है तो हर जगह एक ही सवाल है कि आखिर ये गाना क्यों हटाया गया है। फिलहाल इसका जवाब किसी के पास नहीं है।

इस गाने का संगीत विशाल भारद्वाज ने दिया था। यह विशाल का उस वक्त का काम है जब वो संगीत की दुनिया में बड़ा नाम नहीं थे। इसी के बाद उन्होंने बच्चों के लिए 'मकड़ी' और 'ब्लू अंब्रेला' जैसी फिल्में बनाईं। इन फिल्मों के बाद वो 'ओंकारा', 'मकबूल' जैसी फिल्में बनाने लगे और मशहूर हो गए। गुलजार की फिल्म 'माचिस' का भी संगीत विशाल का ही था। The Jungle Book से बना विशाल और गुलजार का साथ आज तक बना हुआ है। विशाल का संगीत, गुलजार के बोलों पर ही सर्वश्रेष्ठ उभरता है।

कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन में दूरदर्शन ने कई पुराने सीरियल दिखाीने शुरू कर दिए हैं। इसी कड़ी में बुधवार दोपहर एक बजे डीडी नेशनल पर 'द जंगल बुक' दिखाया गया तो कोई दूसरा ही गाना इसके टाइटल ट्रेक के रूप में बजा।

पुराने शो दिखाने की शुरुआत दो हफ्ते पहले रामायण और महाभारत से हुई थी। तभी से इन दोनों शो को बढ़िया टीआरपी मिल रही है। अच्छी टीआरपी की बदौलत कुछ और पुराने शो शुरू हुए। इनमें 'द जंगल बुक' के अलावा सर्कस और शक्तिमान भी हैं।

Posted By: Sudeep Mishra

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना