सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या ने Nepotism की बहस को तेज कर दिया। अब टीवी एक्ट्रेस Kavita kaushik ने एक्टर्स के शोषण पर हो रही बहस को एक नया एंगल दिया है। कविता कौशिक ने ट्विटर पर बताया है कि उन्हें किसी भी स्टेज, फिल्म या शो पर हरियाणवी कॉप बनने की इजाजत नहीं है, जबकि शो को बंद हुए करीब पांच साल बीत चुके हैं। कविता कौशिक का शो FIR करीब पांच साल पहले 'सब टीवी' पर आता था।

कविता ने ट्विटर पर लिखा है 'कल मुझे याद दिलाया गया कि अगर मैंने कहीं भी हरियाणवी पुलिसवाली का रोल किया तो मुझ पर मुकदमा ठोक दिया जाएगा। चैनल पर शो पांच साल पहले बंद हो गया फिर भी यह दबाव है। लोग मांग कर रहे हैं कि इस शो को फिर शुरू किया जाए तो भी चैनल ध्यान नहीं दे रहा। और आप बात कर रहे हैं मूवी माफिया की, क्यूट'।

कविता दरअसल एक फिल्म में हरियाणवी कॉप का रोल करने की तैयारी कर रही हैं। उनका दावा है कि चैनल को उन्होंने ही हरियाणवी कॉप का आइडिया दिया था जबकि चैनल को मराठी कॉप के कन्सेप्ट पर काम कर रहा था।

कविता ने लिखा है 'नेपोटिज्म ही अकेली समस्या नहीं है जिससे एक्टर जूझते हैं। निर्माता और चैनल तो रॉयल्टी का भी मजा लेते हैं, जबकि सारा माल एक्टर्स और टेक्निशियन्स मिलकर तैयार करते हैं। कॉन्ट्रेक्ट के जाल में फंसाकर उन्हें खूब परेशान किया जाता है। मेरा मानना है कि स्टार किड्स पर हमला करने के बजाय असली बुराई से सामना करना चाहिए'।

Posted By: Sudeep Mishra

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना