Indian TV serials : देश में लॉकडाउन की वजह से करीब साढ़े तीन महीने बाद सोमवार से टीवी पर धारावाहिकों की नई कड़ियों का प्रसारण शुरू हो गया। लॉकडाउन और कोरोना संक्रमण का असर कुछ धारावाहिकों पर भी देखने को मिला। "भाबीजी घर पर हैं", "ये रिश्ता क्या कहलाता है" और "ये हैं चाहते" जैसे धारावाहिकों में कोरोना संक्रमण और उससे बचाव जैसे विषयों को दिखाया गया। लॉकडाउन के बाद कुछ धारावाहिकों की कहानी और पात्रों में भी बदलाव देखने को मिला।

धारावाहिक "राधाकृष्ण" में अब महाभारत संबंधी कहानी दिखाई जा रही है, वहीं "भाखरवाड़ी" में सात वर्ष का लीप लेकर कुछ नए किरदारों को शामिल किया गया है। "अलादीन नाम तो सुना होगा", "कुमकुम भाग्य" और "जग जननी मां वैष्णो देवी" जैसे धारावाहिकों में पुराने किरदारों में नए कलाकारों को शामिल किया गया है।

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए फिलहाल सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देशों के अनुसार सिर्फ 33 फीसद क्रू सदस्यों के साथ शूटिंग हो रही है। दर्शकों को लगातार मनोरंजन मुहैया कराने के लिए निर्माताओं ने भी अपनी योजना तैयार कर रखी है। पेनिनसुला पिक्चर्स के निर्माता निसार परवेज और आलिंद श्रीवास्तव ने बताया कि प्रसारण शुरू करने से पहले दर्शकों का निरंतर मनोरंजन करने के लिए उन्होंने आपातकालीन परिस्थितियों के लिए दस से पंद्रह कड़ियों का बैंक बना कर रखा है। इसके लिए सेट पर उपस्थित सभी कलाकार एक दूसरे के साथ सामंजस्य बनाकर काम कर रहे हैं जिससे कम समय में ज्यादा से ज्यादा प्रोडक्शन किया जा सके।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close