रूस और यूक्रेन के भीषण युद्ध ने पोलैंड में चल रही हिंदी फिल्मों की शूटिंग पर भी असर डाल दिया है। बॉलीवुड के फिल्ममेकर्स को वहां शूट हो रही अपनी फिल्में रोकनी पड़ी हैं। इसी कड़ी में जो सबसे बड़ा नाम सामने आ रहा है, वो है अनुभवी संजय दत्त और उभरते सितारे ध्रुव वर्मा की 400 करोड़ के बड़े बजट वाली फिल्म 'द गुड महाराजा' जिसमें संजय दत्त जाम साहब के टाइटल रोल में और ध्रुव एक रशियन स्नाइपर के रोल कर रहे हैं। बता दें कि यह फिल्म जामनगर के महाराजा दिग्विजयसिंहजी रंजीतसिंहजी जडेजा की सच्ची कहानी पर आधारित है। भारत एवं पोलैंड के साझा प्रयास से बन रही है। रूस-यूक्रेन युद्ध की त्रासदी के चलते फिल्म की पूरी यूनिट को वापस लौटना पड़ा जिससे फिल्म के प्रोड्यूसर-डायरेक्टर विकाश वर्मा को बहुत नुकसान उठाना पड़ा।

बताया जा रहा है कि ध्रुव वर्मा इस फिल्म की शूटिंग रूकने के बाद जडेजा राजघराने के सदस्य श्री महेंद्रसिंह जडेजा के आमंत्रण पर लंदन पहुंचे। वहां के एक होटल ताज सेंट जेम्स फोर्ट में उनसे मुलाकात की। ध्रुव ने अपनी फिल्म 'द गुड महाराजा' के प्रोजेक्ट के बारे में उनको अवगत कराया। फिल्म की यूनिट ने यह भी बताया कि विकाश वर्मा ने फिल्म की स्टोरी में रीयलिस्टिक फील लाने में कोई कसर नहीं छोड़ी और इसीलिए बड़े बजट की इस फिल्म में कहानी के अनुसार शूटिंग पोलैंड की खूबसूरत वादियों में की गयी है।

फिल्म के निर्देशक विकाश वर्मा के इसी परफेक्शनिस्ट एप्रोच के कारण लगता है। इस बार एक बहुत ही ज़बरदस्त ऐतिहासिक कहानी पूरे रीयलिस्टिक फील के साथ दर्शकों के सामने आएगी। पोलैंड की बर्फ से ढकी वादियों में हम महाराजा जाम साहब के साथ द्वितीय विश्व युद्ध के समय को अपने सामने जीवंत देख पायेंगे। ऐसी ही फिल्में जो अलग लोकेशन, नए तरीके के कलेवर खास तौर पर जो सच्ची कहानी पे आधारित हों और पुराने समय को सही तरीके से दिखाने के लिए परफेक्शन से शूट की गयी। यही फिल्में दर्शकों के दिल को छूकर कीर्तिमान स्थापित करती हैं। अब देखना है कि क्या ये फिल्म भी दर्शकों के दिल को छूकर कीर्तिमान स्थापित करेगी।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close