अहमदाबाद। गुजरात में युवती के साथ चलती कार में सामुहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। मामले में तीन लोगों पर आरोप लगा है जिसमें एक भाजपा नेता बताया जा रहा है। घटना राजकोट की है जहां एक 19 वर्षीय दलित युवती के साथ चलती कार में सामुहिक दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। युवती का अपहरण कर बंदूक की नोक पर सामुहिक दुष्कर्म किया गया। पुलिस ने शिकायत के बाद आरोपी भाजपा नेता व उसके दोनों दोस्तों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू की है।

यह घटना संगाणी थाना क्षेत्र की है। रमोद गांव में रहने वाली पीड़िता ने आरोप लगाया कि बुधवार के दिन घर में अकेली थी। इस दौरान कोटडा सांगणी के भाजपा के पूर्व महासचिव अमित पड़ालिया व अन्य दो विपुल भायला शेखड़ा व शांति गोविंद पडालिया यहां कार लेकर आए और युवती को जबरदस्ती से अपनी कार में खींचकर अपहरण कर लिया। इसके बाद तीनों ने चालू कार में उससे दुष्कर्म किया।

इतना ही नहीं आरोपितों ने लड़की को एकांत जगह ले जाकर फिर से उससे सामुहिक दुष्कर्म किया। इसके आरोपियों ने युवती को किसी से कहने पर गोली मारने की धमकी देकर रास्ते में उतार दिया। घर पहुंचने के बाद युवती ने अपने परिजनों को पूरी घटना की जानकारी दी। जिसके बाद तुंरत परिजन उसे गोडल सिविल अस्पताल ले गए। जहां घटना की सूचना पाते ही सांगणी पुलिस का काफिला आ पहुंचा।

राजकोट पुलिस अधिक्षक बलराम मीणा ने बताया कि पीड़िता का मेडिकल चेकअप किया गया है। जिसमें उससे सामुहिक दुष्कर्म की पुष्टी हुई है। सांगाणी प पुलिस ने पीड़िता का बयान दर्ज कर लिया है। पीड़िता की शिकायत के बाद आरोपितों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया।

आरोपित अमित पटालिया संगाणी का पूर्व महासचिव है। उसकी मां रामोद गांव की सरपंच है। जिसके कारण वह रामोद व आसपास के गांवों के लोगों को डराता-धमकाता था। उसके दो दोस्त शांती भाई और विपुल पूरे इलाके में नामचीन है। फिलहाल तीनों आरोपी फरार है। पुलिस की अलग-अलग टीमों द्वारा तीनों की तलाश की जा रही है।

गौरतलब है कि दलित युवती से सामुहिक दुष्कर्म की घटना को लेकर एक बार फिर भाजपा सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई। विधानसभा का बजट सत्र चल रहा है। सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस नेताओं द्वारा राज्य में कानून व्यवस्था व महिलाओं की सुरक्षा के लेकर सरकार को घेरने की तैयारी की जा रही है।

Posted By: Ajay Kumar Barve