अहमदाबाद। गुजरात सरकार ने वर्ष 2005 में मारे गए नागन खएड़ी गांव के डुंगरिया की पुत्री को चार लाख रुपए मुआवजा दिया है।

गांधी नगर विशेष कार्यदल की टीम ने जाबुआं जाकर यह राशि किशोरी के पालन-पोषण के लिए सेंट्रल बैंक आफ इंडिया जमा करवाया।

राज्य में वर्ष 2003 से 2006 के दौरान हुए एनकाउंटरों की जांच सुप्रीम कोर्ट के आदेश से पूर्व न्यायाधीश एस.एस. बेदी के नेतृत्व में विशेष कार्यदल की टीम कर रही है, जिसके तहत एक फरवरी 2014 तक पीड़ित परिजनों को मुआवजा देने के लिए न्यायाधीश श्री बेदी ने गुजरात सरकार को आदेश दिया था। फिलहाल राज्य सरकार की ओर से तीन एनकाउंटरों में मारे गए लोगों के परिजनों को मुआवजा देने की घोषणा की गई है।


Posted By:

  • Font Size
  • Close