गुजरात में विरासत, पर्यटन नीति 2020 के तहत वर्ष 1950 से पहले के किले, महल या इमारत के मूल ढांचे में बदलाव के बिना विरासत संग्रहालय, कीमती व प्राचीन वस्तुएं, पोशाक, तलवार, तोप व अन्य हथियारों, सिक्के व नोट का प्रदर्शन किया जा सकेगा। इसके लिए राज्य सरकार दस करोड़ रुपये तक की सहायता देगी।

मुख्यमंत्री विजय रूपाणी राज्य की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने और उसे गति देने में जुटे हैं। इसके लिए मुख्यमंत्री ने पर्यटन, विरासत व होम स्टे नीति में और छूट दी है। गुजरात का मुख्यमंत्री रहते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के विकास के लिए जो नीतियां बनाई थीं रूपाणी उसे आगे बढ़ा रहे हैं।

नई नीति में नए हेरिटेज होटल में 25 करोड़ रुपये तक के निवेश पर 20 फीसद सब्सिडी, अधिकतम पांच करोड़ रुपये की सहायता और 25 करोड़ से अधिक के निवेश पर 10 करोड़ रुपये तक की मदद मिलेगी।

होम स्टे को बढ़ावा देने के लिए एक से छह कमरे वाले आवास को विकसित किया जा सकेगा। सरकार इस पर संपत्ति कर तथा घरेलू बिजली दरों में लाभ देगी। इन्हें सोलर रूफ टॉप योजना का भी लाभ दिया जाएगा।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस