शत्रुघ्‍न शर्मा, अहमदाबाद। आतंकवाद के मुद्दे पर मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी ने कांग्रेस को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि पहले कायर सरकार थी लेकिन नरेंद्र मोदी ने सत्‍ता में आते ही पाकिस्‍तान को मुंहतोड़ जवाब दिया। पूर्व पीएम मनमोहन सिंह की कार्यशैली पर भी प्रश्‍न चिंह लगाते हुए रुपाणी बोले जब तक वे बयान देते थे तब तक दूसरा आतंकी हमला हो जाता था। मुख्‍यमंत्री रूपाणी ने गुरुवार को उत्‍तर गुजरात की बायड व थराद सीटों पर भाजपा उम्‍मीदवारों का प्रचार किया। रुपाणी ने कहा कि कांग्रेस के जमाने में कायर की तरह सरकार थी। जिसके चलते आतंकवादियों के हौंसले इतने बढ़ गए थे कि सरकार कोई कदम उठाए उससे पहले दूसरा हमला हो जाता था। रुपाणी ने कहा पूर्व पीएम मनमोहन सिंह इतना धीमा बोलते थे कि आतंकी हमले को लेकर जब कहते थे हम देखते हैंं, हम सोचते हैं तब तक दूसरा हमला हो जाता था।

रुपाणी ने कहा प्रधानमंत्री के पद पर नरेंद्र मोदी ने आते ही आतंकवाद की कमर तोड़ दी। पाकिस्‍तान को मुंहतोड़ जवाब दिया जिसके चलते आज कश्‍मीर में भी आतंकवाद समाप्ति पर है। रुपाणी ने कहा गुजरात में पहले आए दिन कांग्रेस कौमी दंगे कराती थी लेकिन मोदी के मुख्‍यमंत्री बनने के बाद एक भी दंगा नहीं हुआ, 20 साल से गुजरात में पूरी तरह शांति है।

विपक्ष के नेता परेश धनाणी ने मुख्‍यमंत्री के बयान को महिला विरोधी व नारी शक्ति का अपमान बताते हुए कहा है कि विफल सरकार के मुखिया महिलाओं का अपमान कर रहे हैं जनता इसका जवाब देगी। वहीं राधनपुर कांग्रेस प्रत्‍याशी रघु देसाई का कहना है कि मुख्‍यमंत्री को वाणी विलास शोभा नहीं देता।

गुजरात की 6 सीट पर उपचुनाव की तारीख नजदीक आने के साथ ही प्रचार में भी रंग जमने लगा है। भाजपा सरकार व मंत्री प्रचार में पूरी ताकत झोंक रहे हैं वहीं भाजपा के पूर्व विधायक व गुजराती कलाकार नरेश कनोडिया को भी मैदान में उतारा है। थराद में कांग्रेस के पूर्व विधायक मावजी पटेल भाजपा में शामिल हुए तो राधनपुर में निर्दलीय उम्‍मीदवार सुभाष मकवाणा अपने 500 कार्यकर्ताओं के साथ कांग्रेस के पाले में चले गए।

अल्‍पेश की मुश्किल दिन ब दिन बढ़ती जा रही है, इस सीट पर दलितों के 15 हजार से अधिक मतदाता हैं। कांग्रेस हर हाल में अल्‍पेश को यह चुनाव हराकर हिसाब चुकता करना चाहती है। उधर गुजरात के गृह राज्‍यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने कहा कि अल्‍पेश सक्षम व्‍यक्ति हैं, भाजपा उनको मंत्री बनाती है तो वे उसका स्‍वागत करेंगे।

Posted By: Navodit Saktawat