सूरत (ब्यूरो)। सम्पत्ति के मामले में आसाराम बेटे नारायण साईं से अधिक भरोसा अपने करीबी कौशिक वाणी पर करता था। नारायण या उसकी बहन भारती को पैसों की जरूरत पड़ती थी तो उन्हें कौशिक के सामने हाथ फैलाना पड़ता था। आसाराम की पत्नी लक्ष्मी को भी पैसे कौशिक से मांगने पड़ते थे।

मंगलवार को यह खुलासा पीड़िता ने किया। उसके मुताबिक लड़कियों को लेकर भी बाप-बेटे में टशन चलती थी। नारायण और आसाराम को अगर एक ही लड़की पसंद आ जाए तो दोनों उस लड़की को एक-दूसरे से दूर रखने की कोशिश करते थे। सम्पत्ति और लड़की इन्हीं दो कारणों ने बाप-बेटे के बीच दरार डाल दी थी। आसाराम नारायण से कहीं ज्यादा भरोसा कौशिक वाणी पर करता था। यही कारण है कि आसाराम ने करोड़ों की सम्पत्ति कौशिक के नाम भी कर रखी है। आसाराम ने कौशिक को निर्देश दे रखे थे कि उसकी इजाजत के बिना एक पाई भी नारायण या भारती को न दी जाए। सूरत पुलिस के हाथ लगे सम्पत्ति के दस्तावेज देखकर भी यही पता चलता है। दस्तावेज बताते हैं कि कई जमीनों का मालिकाना हक कौशिक के नाम पर था।

पिता की ही सेक्स सीडी बनाना चाहता था नारायण

पीड़िता के मुताबिक एक बार लंदन में रहने वाली एक लड़की आश्रम आई जिसे देख बाप-बेटे की नियत बिगड़ गई थी। आसाराम नहीं चाहता था कि वह लड़की नारायण के करीब न जाए वहीं नारायण इस कदर उससे प्रभावित हो गया था कि शादी करना चाहता था, लेकिन आसाराम ने नारायण के मंसूबों पर पानी फेर दिया।

लड़की और सम्पत्ति को लेकर बाप-बेटे के बीच की तकरार का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता था कि नारायण अपने ही बाप आसाराम की सेक्स सीडी बना उसे ब्लैकमेल करना चाहता था।

Posted By:

  • Font Size
  • Close