अहमदाबाद। गुजरात में भारी बारिश के बाद अब कोंगो फीवर से दो महिलाओं की मौत हो चुकी है और अन्य पांच मरीजों की पहचान से स्वास्थ्य विभाग चौकन्ना हुआ है। विभाग में इस बीमारी को लेकर बैठकों का दौर शुरू हो गया है।

कोंगो फीवर की चिकित्सा कर रहे एक डॉक्टर और दो नर्स भी इसकी चपेट में है। उन्हें भर्ती कर चिकित्सा शुरू कर दी गई है। राज्य सरकार ने लोगों से अपील की है कि बुखार आने के साथ सिर में दर्द और उल्टी दस्त शुरू होते ही अपने निकट के सरकारी अस्पताल का संपर्क करें।

सरदार वल्लभ भाई पटेल वही अस्पताल हैं कि जिसका हाल ही में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने लोकापर्ण किया इस अस्पताल ने आयुष्मान भारत कार्ड धारक मरीजों के पास से चिकित्सा शुल्क वसूल करने के मामले में भी चर्चा में आई है।

बता दें कि अतिवृष्टि के कारण राज्य सहित अहमदाबाद में मच्छर जनित बीमारिया बढ़ गई हैं। मलेरिया एवं डेंगू से भी लोग त्रस्त हैं। ऐसे समय कोंगो फीवर से महिला की मौत से स्वास्थय विभाग सतर्क हो गया है। यहां के सुरेन्द्रनगर जिला के लींबड़ी शहर के पास स्थित जामड़ी गांव की 75 वर्षीय महिला की अहमदाबाद के एसवीपी अस्पताल में चिकित्सा के दौरान कल मौत हो गई।

इसके अतिरिक्त इसी गांव की एक महिला सुरेन्द्रनगर की सी.यू. शाह अस्पातल में मौत हो गयी। महिला की चिकित्सा कर रहे एक डॉक्टर और दो नर्स को भी कोंगो फीवर की असर के बाद अस्पताल में भर्ती किया गया है। अहमदाबाद शहर के रायखड़ अस्पताल में भर्ती किया गया है।

राज्य में अतिवृष्टि के कारण जगह-जगह पानी भरा हुआ है। मच्छर जनित मलेरिया, डेंग्यू, टाइफाइड, जैसी बीमारियां बढ़ गई हैं। ऐसे हालात में सुरेन्द्रनगर जिला की 75 वर्षीय सुखीबेन करसनभाई मेणिया को 20 अगस्त को अहमदाबाद की एस.वीपी अस्पताल में भर्ती किया गया था। रविवार की रात को इसकी मृत्यु हो गई।

इसके ब्लड का सेंपल पूना स्थित नेशनल वायरोलोजी इन्स्टीट्यूट भेजा गया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि उसे कोंगो फीवर था। इससे उसकी मौत हुई है। इसी जामड़ी गंव की लीलाबेन वामाभाई सिंधव को सुरेन्द्रनगर सी.यू. शाह अस्पताल में भर्ती किया गया था।

उसे डेंगू पॉजीटिव था। चिकित्सा के दौरान उसकी भी मृत्यु हो गई। रिपोर्ट से पता चला कि उसे भी कोंगों फीवर था। इसके अतिरिक्त लींबड़ी के एक युवक को भी शंकास्पद कोंगों फीवर है। राज्य के स्वास्थय विभाग की एक टीम इस ग्रामीण क्षेत्रों का दौरा कर हालात का निरीक्षण कर रही हैं।

एस.वीपी. अस्पताल में कोंगो फीवर ग्रस्त महिला की चिकित्सा कर रहे डॉक्टर और दो नर्स को भी कोंगों फीवर की असर के कारण यहाँ भर्ती किया गया है।

Posted By: Ajay Barve