38 साल पहले उसने एक बैंक में घुसकर 1.32 लाख लूटे थे और एक पुलिस वाले की हत्या भी कर दी थी। इतने साल तक पुलिस को धोखा देने के बाद बेफिक्र होकर जिंदगी जी रहे इस डकैत को पुलिस ने अब पकड़ लिया है। यह गिरफ्तारी राजस्थान से हुई है और पूरा मामला गुजरात के बनासकांठा जिले का है। पालनपुर के क्राइम ब्रांच की टीम ने 68 साल के दीपसिंह राजपूत को राजस्थान के बाड़मेर से गिरफ्तार किया है।

अपराध और अपराधी दोनों सामने आ ही जाते हैं। ऐसा ही कुछ हुआ है गुजरात में जिसकी कहानी पढ़कर आपको पुरानी हिंदी फिल्मों की याद आ जाएगी। इसमें एक डकैत गैंग द्वारा डाले गए डाके और उसके 38 साल बाद इसके सरदार के पकड़े जाने का जिक्र है।

बनासकांठा से एसपी तरुण कुमार दुग्गल ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि दीपसिंह उस 7 डकैतों की गैंग का मास्टरमाइंड था जिसने बनासकांठा के अमीरगढ़ में स्थित बैंक ऑफ इंडिया की शाखा में डाका डालते हुए उस समय 1.32 लाख रुपए लूटे थे। यह डकैती 30 दिसंबर 1982 को हई थी।

पुलिस के अनुसार, डकैतों ने बैंक मैनेजर पर हमला किया था और झड़प में हेड कॉन्स्टेबल शिवदत्त शर्मा की हत्या कर दी थी। इसके बाद 1.32 लाख रुपए लेकर भाग गए थे। इस गैंग के दो सदस्य तो डकैती के कुछ महीनों बाद ही 1983 और 1984 में गिरफ्तार हो गए थे वहीं 4 अन्य की मौत हो गई थी। इनमें से केवल दीपसिंह राजपूत ही बचा था। दीपसिंह पर हत्या के प्रयास, लूट और चोरी के 9 मामले हैं जों राजस्थान के अलग-अलग पुलिस थानों में दर्ज हैं।

गुजरात में इतने पुराने मामले में हुई गिरफ्तारी की खबर सुनकर हर कोई इस पर चर्चा कर रहा है। वहीं पुलिस मामले में आगे की कार्रवाई में लगी हुई है।

Posted By: Ajay Kumar Barve

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Budget 2021
Budget 2021