अहमदाबाद। काफी समय से लंबित राजस्व लेखपालों की भर्ती प्रक्रिया प्रशासन द्वारा पूरी कर ली गई है। कक्षा 12 उत्तीर्ण होने वालों के इस पद के लिए इंजीनियर, आयुर्वेद चिकित्सक, एम.बीए, एमसीए ने लेकपाल की नौकरी स्वीकार की है।

इस तर मिकेनिकल, आईटी और कम्प्यूटर की अकादमिक शिक्षा प्राप्त करने वाले युवक ग्रामीण क्षेत्रों में लेखपाल की नौकरी के लिए लालयित है। चयन समिति की परीक्षा ने उत्तीर्ण होने वालों की सूची तैयार कर दी है।

इस परीक्षा में पास होने वाले प्रत्याशियों में 40 प्रतिशत से भी अधिक डिग्री या डिप्लोमा इंजीनियर है। इतना ही नहीं 10-12 उम्मीदवार तो आयुर्वेदिक और होमियोपैथी की पढाई पूरी की है।

चंपावत कांड और उसके बाद अनेक व्यवधानों के कारण भर्ती प्रक्रिया में विवाद से विलंब हुआ था।

लेकिन अब यह पूरी कर ली गयी है। इस प्रकार 2343 पदों के लिए सूची तैयार कर ली गयी है। राजस्व लेखपालों की 2560 जगहों के लिए 9.33 लाख फोर्म भरे गये थे और 7.28 लाख उम्मीदवारों ने परीक्षा दी थी। जिसमें विभिन्न केटेगरी में 2343 उम्मीदवारों का चयन किया गया है।

आगामी 9 सितंबर के दिन मुख्यमंत्री विजय रुपाणी द्वारा लेखपाल की परीक्षा में पास उम्मीदवारों को नियुक्ति पत्र सौंपा जायेगा। गौणसेवा चयन समिति के सचिव पी.डी. पलसाणा ने कहा कि इस बार 100 नंबर की लिखित और 100 नंबर की कोम्प्यूटराईज इस तरह दो प्रकार की परीक्षा ली गई थी।

लेखपाल की परीक्षा में तमाम केटेगरी के लिए उत्तीर्ण होने के लिए 40 प्रतिशत गुण रखा गया था। इसके बावजूद योग्य उम्मीदवार नहीं मिलने से 217 जगह रिक्त है। उन्होंने बताया कि जनरल केटेगरी में 68.74 और महिलाओं में 53.77, एससी में पुरुषों में 68.65 महिलाओं में 55.43, ओबीसी में पुरुषों में 68.64 और महिलाओं में 51.07 प्रतिशत उम्मीदवारों मेरिट में शामिल किये गए है।

गौरतलब है कि राज्य में सरकारी नौकरी के लिए लाखों की संख्या में युवा आवेदन दे रहे है। गौण सेवा चयन समिति द्वारा अगले 16 अक्टूबर के दिन ली जाने वाली सचिवालय कलार्क और सचिवालय आफिस आसिस्टन्ट की 4 हजार जगहों के लिए 7 लाख लोगों ने आवेदन किया है।

Posted By:

  • Font Size
  • Close