अहमदाबाद। मध्यप्रदेश व उत्तरपूर्व क्षेत्र में पैदा हुए कम दबाव के चलते गुजरात में भारी बारिश हो रही है। छोटा उदयपुर में मंगलवार को सात इंच बारिश होने से बाढ़ के हालात पैदा हो गए। वड़ोदरा व अहमदाबाद में भी जारी भारी से आम जनजीवन प्रभावित हुआ है। वड़ोदरा की विश्वमित्र का जल स्तर बढ़ने के एक बार फिर लोगों को बाढ़ के साथ-साथ मगरमच्छों का डर सता रहा है। उधर सरदार सरोवर बांध का जल स्तर 134.1 मीटर तक पहुंचने पर 23 दरवाजे खोले गए हैं। जिसके कारण नर्मदा नदी उफान पर हैं।

मौसम विभाग के मुताबिक, गुजरात में सोमवार से धीमी गति से बारिश हो रही है। अहमदाबाद, सूरत, वड़ोदरा, भरुच , छोटा उदयपुर, अरवल्ली, देहगाम सहित के कई शहरों में बारिश के कारण जनजीवन प्रभावित हुआ है। वड़ोदरा से सटे पंचमहाल जिले में पांच इंच बारिश होने से कटाणा डेम लबालब हो गया है। इसके छह गेट खोलने से वड़ोदरा शहर से गुजरती विश्वमित्री नदी खतरे के निशान से उपर बह रही है ।

आलम यह है कि वड़ोदरा वासियों पर एक बार फिर बाढ़ के साथ विश्वमित्री नदी में रहते मगरमच्छों का खतरा मंडरा रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक पिछले 24 घंटे में कांट में पांच इंच, हालोल में छह इंच , भावनगर के महुवा में दो इंच, आणंद में 4 इंच, संखेड़ा में 3 इंच , वड़ोदरा में दो इंच, नसवाड़ी मे दो इंच, अहमदाबाद में एक इंच, सूरत में आधा इंच बारिश दर्ज की गई है। मौसम विभाग के मुताबिक गुजरात मे अगले 48 घंटे बारिश की यही स्थिति रहेगी।

गुजरात में इस बार अच्छी बारिश के कारण 204 बांधों में 71.94 फीसदी पानी का संग्रह हुआ है। जबकि 30 से अधिक बांध संपूर्ण रूप से भर गए हैं। सरदार सरोवार बांध का जल स्तर पहली 134 मीटर तक पहुंचने पर उसके गेट खोले गए हैं।

रिपोर्ट के मुताबिक, गुजरात में 30 बांध 100 फीसदी भर गये और 56 से अधिक बांध 70 फीसदी से अधिक भर चुके है। वहीं 23 बांधो में 50 से 70 फीसदी पानी का संग्रह हुआ हैं। जबिकि 58 बांधों में 25 फीसदी ही पानी आया है।

Posted By: Arvind Dubey

fantasy cricket
fantasy cricket