अहमदाबाद। गुजरात में भारी बारिश का दौर जारी है। इस बीच, बाढ़ में फंसे लोगों को बचाए जाने के हैरतअंगेज फोटो वीडियो सामने आए हैं। पहले वडोदरा में नौ माह की बच्ची को वासुदेव बन टोकरी में लेकर बाढ़ के पानी से बचाने वाले पुलिसकर्मी की खूब वाहवाही हुई। अब प्रदेश के मोरबी में एक जांबाज पुलिसकर्मी ने जान पर खेलकर दो बच्चियों को कंधे पर बैठाकर बाढ़ से बाहर निकाला। (Watch Video Below)

मानसून का कहर: केरल में 46, महाराष्ट्र में 29, कर्नाटक में 24 और गुजरात में 19 की मौत

केरल, कर्नाटक, गुजरात व महाराष्ट्र में पिछले तीन दिनों से भारी वर्षा के कारण तबाही हो रही है। केरल में तो 2018 के अगस्त की बाढ़ जैसे हालात बन रहे हैं। बीते तीन दिनों में चारों राज्यों में 118 मौते हो चुकी हैं। केरल में 1.25 लाख व महाराष्ट्र के 2.85 लाख लोग अपने घर-बार छोड़कर राहत शिविरों में रहने को मजबूर हैं।

वायनाड में सर्वाधिक 11मौतें, राहुल जाएंगे

केरल के सीएम पिनराई विजयन ने बताया कि केरल में ताजा बाढ़ के कारण अब तक 46 मौतें हो चुकी हैं, इनमें से सर्वाधिक 11 वायनाड में हुईं। आठ जिले बाढ़ व भूस्खलन के कारण सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। इनमें शामिल मलप्पपुरम जिले के वायनाड के मेप्पाडी व कैवलापारा में भारी तादाद में लोग लापता हैं।

सूत्रों के अनुसार सिर्फ कैवलापारा में ही 41 लोग लापता हैं। वायनाड व कोझिकोड में सर्वाधिक 25-25 हजार लोग विस्थापित हुए हैं। आठ अगस्त के बाद से आठ जिलों में 80 जगह भूस्खलन की घटनाएं हुई हैं। अपने चुनाव क्षेत्र वायनाड में बाढ़ का जायजा लेने कांग्रेस नेता राहुल गांधी रविवार को वहां जा सकते हैं। यहां भारी वर्षा का अलर्टकेरल के एर्नाकुलम, कोझिकोड, वायनाड व कन्नाूर में मौसम विभाग ने भारी वर्षा का अलर्ट जारी किया है। इससे राज्य में 2018 में अगस्त में आई भयावह बाढ़ का खतरा पैदा हो गया है।

कर्नाटक के 12 जिले बाढ़ग्रस्त

कर्नाटक में भी भारी वर्षा से राज्य के 12 जिलों में बाढ़ के हालात पैदा हो गए हैं। मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने बताया कि अब तक 24 की मौत हो चुकी है। बाढ़ के कारण 1024 गांव बुरी तरह प्रभावित हैं। ये जिले प्रभावित : बेलगावी, बगलकोट, विजयपुरा, रायचुर, यादगीर, गडग, उत्तर कन्नाड, हावेरी, हुबली-धारवाड़, दक्षिण कन्नाड, चिकमंगलुर व कोडागू।

कोल्हापुर व सांगली में सुधार,नाव हादसे में मृतक संख्या 12

उधर महाराष्ट्र में बाढ़ग्रस्त कोल्हापुर व सांगली में शनिवार को स्थिति सुधरने लगी। डूबे इलाकों से पानी घटने लगा है। सांगली जिले के ब्रहमनाल गांव में बाढ़ राहत के दौरान नाव पलटने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 12 हो गई है। शनिवार को तीन और शव मिले। नाव में 18 लोग सवार थे, इनमें से नौ की डूबने से पहले ही मौत हो गई थी। बाकी लापता थे। छह लापता की तलाश जारी है।

राज्य में बाढ़ के कारण 29 लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच राहत सामग्री पर फोटो लगाए जाने से महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस विपक्ष के निशाने पर आ गए हैं। कोल्हापुर में बांटे जा रहे चावल व आटे के पैकेटों पर "महाराष्ट्र सरकार : अगस्त 2019 के बाढ़ पीड़ितों के लिए मुफ्त" संदेश लिखे स्टीकर और फडणवीस व इचलकरंजी के भाजपा विधायक सुरेश हलवंकर के फोटो चस्पा हैं। राकांपा व अन्य विपक्षी दलों ने इसकी कड़ी आलोचना की है। सीएम फडणवीस ने बयान जारी कर स्पष्ट किया है कि राहत सामग्री पर फोटो चस्पा करने की कोई जरूरत नहीं थी। किसी को भी ऐसा नहीं करना चाहिए।