अहमदाबाद। गुजरात के बनासकांठा जिले में स्थित 51 शक्तिपीठ में से एक अंबाजी मंदिर में भादौ महीने के महामेला की रविवार से शुरुआत हो गई। पूर्णिमा तक चलने वाले इस महामेला का मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने प्रारंभ करवाया। इस महामेले में देश के तकरीबन 20 लाख श्रद्धालु मां के दर्शन के लिए उमड़े पड़ेंगे। उल्लेखनीय है कि अंबाजी मंदिर में किसी देवी की मूर्ति पूजा नहीं परन्तु वीसायंत्र की पूजा की जाती है।

यह है दर्शन कार्यक्रम

इस महामेला के दौरान सुबह 6.15 बजे से रात 1.30 बजे तक मां का दर्शन किया जा सकेगा। जबकि दोपहर 11.30 से 12.30 और सायं 5 से 7 बजे के दौरान दर्शन बंद रहेगा। भादौ महीने के महामेला के लिए पैदल संघों का यहां शनिवार से ही आगमन आरंभ हो गया है। यात्रियों की सुविधा के लिए श्री आरासुरी अंबाजी माता देवस्थान ट्रस्ट द्वारा विशिष्ट आयोजन किया गया है।

इस बार दिव्यांगों के लिए विशेष व्‍यवस्‍था

इस बार पहली बार दिव्यांग व्यक्ति और उसके परिजनों को मंदिर तक लाने-ले जाने की व्यवस्था की गयी है। गत वर्ष केवल बालकों एवं दिव्यांगों के लिए यह सुविधा उपलब्ध करवायी गयी थी।

मेले में यह होगा खास :

- इस बार यहां अंबाजी चाचर चौक में काउंटर की संख्या भी बढ़ा दी गयी है।

- मंदिर सहित मुख्य सर्कल, मुख्य बाजारों में एलइडी लगाये गये हैं। यहां से मेला का लाइव प्रसारण देखा जा सकता है।

- यहां विविध प्रदर्शन के लिए गैलरी, मातृमिलन प्रोजेक्ट, आटोमेटेड एस.एम.एस, हेल्पलाइन सिस्टम, लाइव लैब कास्टिंग सहित विविध सुविधाएं उपलब्ध करवायी गयी है।

- सुरक्षा-व्यवस्था के लिए पांच हजार से भी अधिक सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया है। यहां श्रद्धालुओं के लिए भोजन की निःशुल्क व्यवस्था की गयी है।

Posted By: Navodit Saktawat