हजारीबाग। संसद के दोनों सदनो में तीन तलाक बिल पास होते ही असर दिखने लगा है। झारखंड के हजारीबाग में एक पीड़िता अपने शौहर के खिलाफ आवाज बुलंद करते हुए पुलिस थाने पहुंच गई। जानकारी के मुताबिक, विष्णुगढ़ प्रखंड के नवादा में सुबेदा खातून को उसके शौहर दिल नवाज अंसारी ने बीती 8 जून को तलाक दे दिया।

इतना ही नहीं, शौहर ने 3 बच्चों में बड़ी बेटी को अपने पास रखकर बीवी को घर से बाहर निकाल दिया। मजबूरन सुबेदा को अपने मायने कीर्तिडीह जाना पड़ा। इसके बाद भी उसे प्रताड़ित किया जाता रहा।

सुबेदा के मुताबिक, बीती 29 जुलाई को वह दो बेटियों के साथ बड़ी बेटी से मिलने पहुंची तो शौहर ने दोनों बेटियों को भी रख लिया और उसे धक्के मारकर निकाल दिया। हंगामा हुआ तो बेटियों को मां के साथ जाने दिया। इतना सब होने पर सुबेदा का सब्र जवाब दे गया। वह थाने पहुंचा और शौहर के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज करवाई।

सुबेदा खातून का कहना है कि वह शौहर के जुल्म को सहती रही। तीन तलाक बिल को संसद से मंजूरी मिलने के बाद उम्मीद जगी है कि उस जैसी महिलाओं को न्याय मिलेगा। पुलिस ने शौहर दिल नवाज अंसारी, ससुर लतीफ व अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया है।

उसकी शादी 4 साल पहले हुई थी। पिता ने 27,000 रुपये नकद दिए थे। इसके बाद भी ससुराल वाले दहेज मांगते रहे और कई बार मारपीट की।

बता दें, ट्रिपल तलाक बिल लोकसभा और राज्यसभा में पारित हो गया है। अब राष्ट्रपति के हस्ताक्षर होते ही यह कानून बन जाएगा।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close