जूनागढ़। गुजरात के जूनागढ़ में अज्ञात लोगों ने एक अखबार के दफ्तर में घुसकर पत्रकार किशोर दवे की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी। हत्या में एक भाजपा नेता के पुत्र के लिप्त होने की आशंका है। बताया जा रहा है कि पुरानी रंजिश के चलते दवे की हत्या हुई।

किशोर दवे राजकोट के दैनिक समाचार पत्र (गुजराती भाषा) जय हिंद सांझ के जूनागढ़ ब्यूरो चीफ थे। सोमवार रात वह चौथी मंजिल पर अपने कार्यालय में काम में व्यस्त थे। इसी दौरान दफ्तर में कुछ अज्ञात युवक आए और दवे पर चाकुओं से कई वार किए। उनकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। जब दवे का सहायक कार्यालय आया, तब उसने पुलिस को हादसे की सूचना दी।

दवे (53) के परिजनों ने हत्या में भाजपा के एक नेता के पुत्र के शामिल होने का शक जताया है। घटना की जांच लोकल क्राइम ब्रांच को सौंपी गई है। अहमदाबाद में आम आदमी पार्टी (आप) और ब्राह्माण संगठनों ने प्रदर्शन कर हत्यारों को जल्द से जल्द पकड़ने की मांग की है। इस संबंध में कलेक्टर को भी एक ज्ञापन सौंपा है।

पुलिस अधीक्षक नीलेश जजाडिया ने बताया, "वंजारी चौक स्थित दफ्तर में दवे पर छह-सात बार चाकू से वार किए गए। चाकू के जख्मों को देखकर हत्या के पीछे का कारण निजी दुश्मनी समझ में आता है।" उन्होंने कहा कि दवे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। मामले की जांच जारी है। जूनागढ़-बी संभागीय थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया है।

Posted By:

  • Font Size
  • Close