अहमदाबाद। कमलेश तिवारी हत्‍याकांड में ATS को बड़ी सफलता मिली है। हत्‍या के दो फरार आरोपी अशफाक और मोइनुद्दीन को गिरफ्तार कर लिया गया है। प्राप्‍त जानकारी के अनुसार गुजरात एटीएस ने दोनों को मंगलवार शाम 8 बजे गिरफ्तार किया। गुजरात एटीएस हिमांशु शुक्‍ला ने बताया कि आरोपी अशफाक और मोइनुद्दीन पठान को शामलाजी के पास गुजरात-राजस्थान सीमा से गिरफ्तार किया गया है। गुजरात एटीएस को जानकारी थी कि वे गुजरात में प्रवेश करने जा रहे हैं, उसी आधार पर हमने अपनी टीम को सीमा पर भेजा और उन्हें पकड़ लिया। दोनों को गिरफ्तार करके अहमदाबाद के एटीएस ऑफिस लाया गया है। लखनऊ में हिन्दू नेता कमलेश तिवारी की हत्या के मुख्य आरोपी अशफाक और मोइनुद्दीन को गुजरात एटीएस ने धरदबोचा है। राजस्थान बॉर्डर से गुजरात में प्रवेश करने से पहले ही पुलिस ने दोनों को पकड़ लिया। दोनों को अहमदाबाद एटीएस लाया गया है।

हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की गत दिनों लखनऊ में नृशंस हत्या कर दी गई थी। हत्या की साजिश रचने के आरोप में सूरत और बिजनौर व अन्य शहरों से आधा दर्जन संदिग्धों को गिरफ्तार किया जा चुका है। अशफाक और मोइनुद्दीन ने ही वेश बदल कर कमलेश तिवारी के पास पहुंचे और उनकी हत्या कर दी। पुलिस अब तक इसी नतीजे पर पहुंची है।

गुजरात एटीएस चीफ हिमांशु शुक्ला ने बताया कि इंटेलिंजेंस इनपुट के अनुसार अशफाक और मोइनुद्दीन को मंगलवार रात 8 बजे के आसपास राजस्थान- गुजरात के शामलाजी बोर्डर से पकड़ लिया है। दोनों की पिछली लोकेशन यूपी के शाहजहांंपुर में मिली थी।

इसके बाद गुजरात, यूपी, दिल्ली और चंदीगढ़ की एटीएस की टीम आरोपियों की तलाश कर रही थी। दोनों गुजरात के सूरत में रहते है। मोइनुद्दीन मुख्य आरोपी राशिद का भाई है। अशफाक और मोइनुद्दीन को अहमदाबाद एटीएस की आफिस लाया गया है।

Posted By: Navodit Saktawat