अहमदाबाद (ब्यूरो)। अखंड भारत के शिल्पी लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल की दुनिया में सबसे ऊंची प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ यूनिटी का शिलान्यास 31 अक्टूबर को उनकी जयंती पर गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। मोदी ने इसके लिए अपने धुर विरोधी केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश को न्योता भेजा है।

सरकार की ओर से इसका व्यापक प्रचार किया जा रहा है और देश की पांच लाख से अधिक पंचायतों से लोहा एकत्र करने का भी ऐलान कर रखा है। गुजरात सरकार और जनभागीदारी से सरदार सरोवर नर्मदा बांध पर बनने वाली 182 मीटर ऊंची स्टेच्यू ऑफ यूनिटी अमेरिका की स्टेच्यू ऑफ लिबर्टी से दो गुनी ऊंची होगी।

सरदार पटेल ने 67 साल पहले देसी रियासतों को एक कर भारत का एकीकरण किया था। 31 अक्टूबर से देश के पांच लाख से अधिक गांवों से लोहा एकत्र करने का अभियान शुरू होगा जिसमें सरकारी, गैरसरकारी संस्थाओं के अलावा अन्य निजी, सामाजिक, सांस्कृतिक व राजनीतिक संगठनों की भी मदद ली जाएगी।

प्रतिमा के शिलान्यास समारोह को भव्य बनाने के लिए समूचे भारत से लोगों को आमंत्रित किया गया है। इसमें दस से पंद्रह हजार लोगों के आने की संभावना है। गौरतलब है कि प्रथम प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरू ने सरदार सरोवर बांध की नींव रखी थी। बांध से 3 किलोमीटर अंतर पर बने टापू साधू बेट पर मोदी अब सरदार की दुनिया में सबसे विराट प्रतिमा की नींव रखेंगे।

Posted By:

  • Font Size
  • Close