अहमदाबाद (ब्यूरो)। भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार और गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रदेश के 1.25 लाख करोड़ का अनुमानित बजट मानते हुए देश के समक्ष विकास की तस्वीर खींचने का प्रयास किया गया है। चार माह के लिए 40 हजार करोड़ के लेखानुदान बजट में प्रदेश के लिए भी समूचे वित्तीय वर्ष की योजनाएं दर्शाई गई है।

वित्तमंत्री नितिन पटेल ने शुक्रवार को गुजरात विधानसभा में लेखानुदान बजट पेश करते हुए सरकार की हर उपलब्धि को आंकड़ों के जरिए पेश किया। बजट में किसी भी प्रकार के नए टैक्स से बचते हुए वित्तमंत्री ने राज्य सरकार के 12 साल के कामकाज को बयां किया। मुख्यमंत्री मोदी की योजना के मुताबिक वित्तमंत्री ने बजट में शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, नर्मदा बांध परियोजना, मानव विकास सूचकांक, औद्योगिक विकास के साथ आधारभूत ढांचे को मजबूत करने पर बल दिया है। राज्य के कई शहरों में बीआरटीएस, अहमदाबाद की साबरमती नदी पर रिवरफ्रंट के निर्माण के साथ राजधानी गांधीनगर में स्मार्ट सिटी के निर्माण को भी मोदी सरकार ने बड़ी उपलब्धि बताया है। लोकसभा चुनाव से पहले राज्य के बजट में प्रदेश के विकास की तस्वीर खींचने का प्रयास किया है। पिछले एक दशक के कामकाज को सरकार ने देश के समक्ष एक विजन के रूप में पेश करने की कोशिश की।

वित्तमंत्री पटेल ने 732 करोड़ 53 लाख के घाटे का बजट पेश करते हुए कहा कि राज्य के घरेलू उत्पादन में 11 फीसद की वृद्धि हुई है। सरकार ने वर्ष 2030 तक 66 प्रतिशत शहरी विकास का लक्ष्य रखा है। साथ ही प्रति व्यक्ति आय में भी 11 फीसद से अधिक की वृद्धि दर्शाई है। प्रदेश में प्रति व्यक्ति औसत आय अब बढ़कर 63,068 रुपए हो गई है। सरकार ने बजट में आदिवासियों के लिए 40 हजार करोड़, मछुआरों के कल्याण के लिए 21 हजार करोड़, शहरी गरीबों की समृद्धि पर 25 हजार करोड़ रुपए खर्च करने की योजना पेश की है। इसके अलावा 20 हजार गरीबों को सुपर स्पेशल स्वास्थ्य सेवा, 38 हजार किसानों को बिजली कनेक्शन देने व पिछले एक दशक में पर्यटकों की संख्या एक करोड़ 30 लाख होने का दावा किया गया है। राज्य में लघु उद्योग इकाईयों के 2,67000 हजार से बढ़कर 4,85,000 होने के दावे के साथ 67,000 करोड़ के घरेलू उत्पादन का उल्लेख किया गया है।

मोदी का दस का दम

1. कृषि विकास 11.11 प्रतिशत, देश का कृषि में योगदान 8.8 फीसद

2. गुजरात की पानी संग्रह क्षमता 37 हजार 978 घनमीटर

3. बिजली उत्पादन 8756 से बढ़कर 22856 मेगावाट

4. घाटे में चल रही पब्लिक सेक्टर यूनिट 4041 करोड़ के लाभ में

5. देश के सकल घरेलू उत्पादन में भागीदारी 7.2 फीसद

6. गुजरात में प्रति व्यक्तिऔसत आय 63,068 रुपए

7. मरीजों को 108 की आपातसेवा

8. एक करोड़ बच्चों का शाला स्वास्थ्य योजना में समावेश

9. देश के उत्पादन में योगदान 18 प्रतिशत

10. राज्य के लघु उद्योगों में 77 हजार करोड़ का निवेश।

बजट भ्रामक व धन का दुरुपयोग : वाघेला

गुजरात विधानसभा में नेता विपक्ष शंकर सिंह वाघेला ने लेखानुदान बजट को वाहियात व धन का दुर्व्यय बताया है। वाघेला ने बजट को आंकड़ों का भ्रामक बताते हुए कहा है कि सार्वजनिक इकाईयों के खर्च व भ्रष्टाचार का इसमें कोई उल्लेख नहीं किया गया। वाघेला का कहना है कि बीआरटीएस, 108, सर्वशिक्षा योजना केंद्र की है जिसका श्रेय मोदी सरकार ले रही है। वाघेला ने कहा सरकार भ्रष्टाचार के मुद्दे पर चुप्पी साधे है। सरकारी नौकरी के नाम पर भाजपा कार्यकर्ता युवाओं से करोड़ों रुपए ठग रहे हैं। कांग्रेस ने इस मुद्दे पर बजट पेश करने से पहले ही सदन से वॉक आउट भी कर दिया था। वाघेला ने कहा कि पांच बार वाईबें्रट गुजरात समारोह हुए लेकिन उस पर अमलीकरण महज डेढ़ फीसदी रहा। 47 लाख युवाओं को नौकरी देने की बातें भी भ्रामक साबित हुई। राज्य की कृषि विकास दर 8.46 प्रतिशत है।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020