अहमदाबाद। सरदार सरोवर बांध के मुद्दे पर भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार एवं मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह पर निशाना साधते हुए बांध पर दरवाजे लगाने की मंजूरी देने की मांग की है। मोदी ने कहा कि केंद्र बांध की ऊंचाई बढ़ाने की स्वीकृति नहीं देकर राज्य के किसानों के साथ अन्याय कर रहा है।

राजकोट के कागवड गांव में आयोजित विराट कृषि मेले में मुख्यमंत्री मोदी ने सरदार सरोवर बांध का मुद्दा उठाते हुए कहा कि केंद्र सरकार को बांध पर दरवाजे लगाने की मंजूरी देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि बांध पर दरवाजे लगाने की स्वीकृति मिलती है तो इसका श्रेय सभी दलों को देंगे। मोदी ने कहा, मैं गुजरात कांग्रेस के नेताओं को इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री से मिलने के लिए बधाई देता हूं। प्रधानमंत्री से मेरा कहना सिर्फ इतना है कि अगर आप मेरी बात नहीं सुनते तो कम से कम अपनी पार्टी के नेताओं की ही सुन लीजिए।

मोदी के आरोपों पर गुजरात कांग्रेस ने पलटवार किया है। पार्टी प्रवक्ता मनीष दोशी ने कहा है कि मोदी अपनी सरकार की विफलता छिपाने के लिए सरदार सरोवर बांध मुद्दे पर केन्द्र सरकार को बदनाम कर रहे हैं। मोदी ने चुनाव से पहले 10 हजार करोड़ की सरदार सरोवर योजना की घोषणा कर लोगों को गुमराह करने की कोशिश की लेकिन योजना पर काम शुरू नहीं हुआ। भाजपा शासन में राज्य में 19 हजार 672 किमी नहरों का ही निर्माण हुआ जबकि 54 हजार 954 किमी नहरों का निर्माण बाकी है।

मोदी व झड़फिया के बीच पिघली बर्फ

गुजरात परिवर्तन पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष केशूभाई पटेल के पुत्र भरत पटेल के भाजपा में शामिल कराने के बाद उनके राजनीतिक उत्तराधिकारी पूर्व मंत्री गोरधन झड़फिया भी अब भाजपा में शामिल हो सकते हैं। झड़फिया लंबे समय बाद मुख्यमंत्री मोदी के साथ एक मंच पर आए हैं जिससे यह अटकलें शुरू हो गई हैं। गुजरात परिवर्तन पार्टी के महासचिव गोरधन झड़फिया ने कृषि मेले में मुख्यमंत्री मोदी के साथ मंच पर आए। हालांकि झड़फिया ने फिलहाल भाजपा में आने का संकेत नहीं दिया है लेकिन माना जा रहा है कि दोनों ही ओर से बर्फ पिघल रही है।

Posted By:

  • Font Size
  • Close