सूरत, एजेंसी। यौन उत्पीड़न के आरोपी और आसाराम का बेटा नारायण साईं को गुरुवार को दिल्ली से सूरत लाया गया। सूरत पुलिस कमिश्नर ने कहा है कि नारायण साईं के पास सात हजार करोड़ की संपत्ति है। पुलिस नारायण साईं की संपत्ति की जांच ईडी और आयकर विभाग से करने को कहेगी। इसके अलावा नार्को और ब्रेन मैपिंग भी पुलिस करवा सकती है। नगर पुलिस आयुक्त राकेश अस्थाना ने बताया कि हिरासत में लिए गए साईं को उसके सहयोगियों के साथ सूरत लाया गया।

नोटरी बना गिरफ्तारी का कारण

साईं का नोटरी एंगल भी अब सामने आ रहा है। क्राइम ब्रांच का कहना है कि इस बार भी नारायण साईं पंजाब से दिल्ली एक नोटरी से ही मिलने आ रहा था। उसे लगा कि दिल्ली में चुनाव के चलते पुलिस व्यस्त रहेग। उसे लगया यह सही वक्त है, वह नोटरी से मिलकर अपनी जमानत की अर्जी के कागजात तैयार कराकर वापस लौट जाएगा। लेकिन क्राइम ब्रांच को उसकी गतिविधियों के बारे में पहले ही पता चल चुका था। इधर, दिल्ली के मयूर विहार के एक नोटरी ने साईं के खिलाफ शिकायत दी है। शिकायत में कहा गया है कि अक्टूबर में नारायण साईं दिल्ली आया था। उस वक्त बीमारी के चलते नोटरी एम्स में भर्ती था। ऐसे में उसका नोटरी रजिस्टर एम्स मंगाया गया, लेकिन वह रजिस्टर नारायण साईं ने वापस नहीं किया। पुलिस इस शिकायत की जांच कर रही है।

Posted By:

  • Font Size
  • Close