सूरत (ब्यूरो)। दुष्कर्म के आरोपी भगोड़े नारायण साईं के बारे में सोमवार को सूरत की पीड़िता ने एक नया खुलासा किया है। पीड़िता के अनुसार नारायण की नाजायज औलादों में सिर्फ जमुना का बेटा ही नहीं, बल्कि एक बेटी भी हैं। यह बेटी एक दूसरी सेविका से है। उसने बताया कि वह बेटी फिलहाल अहमदाबाद में ही रह रही है।

पीड़िता ने बताया कि नारायण आश्रम की लड़कियों के साथ कृष्णलीला करता था। आश्रम में बने स्विमिंग पूल में वह लड़कियों के साथ स्नान करता था। यही नहीं हर त्योहार पर अपना भेष बदलकर आश्रम की लड़कियों को तरह-तरह के हथकंडे अपनाकर लुभाता था। पीड़िता ने बताया कि नारायण की पत्नी जानकी में भी बिल्कुल नहीं बनती थी।

शक्की मिजाज का नारायण उसे किसी से बात नहीं करने देता चाहता था। फिर भी अगर जानकी किसी से बात कर लेती तो उसे मार पड़ती थी। पीड़िता ने बताया कि आसाराम की गिरफ्तारी के बाद इस बात का डर होने लगा था कि नारायण का भी यही हश्र होगा। इसलिए उसकी सबसे खास साधिका मोनिका अग्रवाल डर गई। उसने नारायण से संबंध रखनेवाली सभी लड़कियों को मैसेज से समझाने और धमकाने की कोशिश कर रही थी, मगर वह इसमें सफल नहीं हो पाई।

\सूरत की बहनों से दुष्कर्म करने के मामले में कथावाचक आसाराम की जमानत याचिका पर फैसला संभवत: 4 दिसंबर को आएगा। आसाराम फिलहाल उत्तप्रदेश की एक किशोरी के यौन शोषण मामले में जोधपुर जेल में बंद हैं। इससे पहले उनकी ओर से दाखिल याचिकाएं खारिज हो चुकी हैं।

Posted By:

  • Font Size
  • Close