अहमदाबाद। गुजरात दंगा मामले में दोषी नरेंद्र मोदी कैबिनेट की पूर्व मंत्री माया कोडनानी की हालत खराब है। वे अवसाद से ग्रस्त हैं और यहां के एक सरकारी अस्पताल में बिजली से झटके देकर इलाज किया जा रहा है।

नारोदा पाटिया में हुए दंगे के मामले में कोर्ट ने 60 वर्षीय माया को अगस्त 2012 में 28 साल की सजा सुनाई थी। माया गुजरात की महिला एवं बाल विकास मंत्री रह चुकी हैं।

डॉक्टरों का कहना है कि अवसाद के इलाज में बिजली के झटके आखिरी विकल्प होता है। कोडनानी के दिमाग में आत्महत्या की धारणा घर कर गई है। उन पर दवाओं का असर नहीं हो रहा है। बीते एक हफ्ते से उनका इलाज चल रहा है।

कोडनानी को सुप्रीम कोर्ट से अंतरिम जमानत मिली है जो अगले सोमवार को समाप्त हो जाएगी।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस