अहमदाबाद। दिल्ली में निर्भया केस में इंसाफ हुआ है और दोषियों को 22 जनवरी को फांसी दिए जाने की तैयारी की जा रही है। जहां एक तरफ एक निर्भाय को न्याय मिला है वहीं दूसरी तरफ एक और निर्भया जैसा मामला सामने आया है। यह मामला दिल्ली का तो नहीं लेकिन गुजरात का है। इसमें एक महिला के साथ सामुहिक दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई और उसके शव को पेड़ से लटका दिया गया है। हैवानियत की शिकार हुई यह महिला दलित बताई जा रही है और उसकी हत्या को आत्महत्या का रूप देने के लिए उसका शव पेड़ से लटका दिया गया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को अहमदाबाद सिविल अस्पताल में पोस्ट मार्टम के लिए भजे जांच शरू कर दी है।

अस्पताल में पोस्टमार्ट के बाद महिला के साथ दुष्कर्म औऱ हत्या का केस दर्ज कर लिया गया है। इसमें चार को आरोपी बनाया गया है। खबर है कि इन चारों ने महिला का अपहरण किया और सामुहिक दुष्कर्म किया। हैवान इतने से ही नहीं माने और दलित महिला की हत्या कर उसका शव पेड़ से लटका दिया ताकि ऐसा लगे कि उसने आत्महत्या की है।

जिस महिला का शव बरामद हुआ है वो 31 दिसंबर से लापता थी। उसके लापता होने के बाद परिजनों ने थाने पहुंचकर 3 जनवरी को शिकायत दर्ज करवाई लेकिन स्थानीय पुलिस ने उन्हें लौटा दिया। स्थानीय पुलिस इंस्पेक्टर पर आरोप है कि उसने लड़की के परिजनों से बताया कि लड़की ठीक है और अपने प्रेमी के साथ भाग गई है। दोनों ने शादी भी कर ली है इसलिए केस दर्ज करने की जरूरत नहीं है।

लेकिन 5 तारीख को उसका शव एक पेड़ से लटकता हुआ मिला। परिजनों ने उसका शव लेने से यह कहते हुए इनकार कर दिया कि उसकी हत्या हुई है। जिसके बाद पोस्टमार्टम कर मामला दर्ज किया गया। इसमें चार युवको विमल भारवड, दर्शन, सतीश और जिगर को आरोपी बनाया गया है। फिलहाल मामले की जांच जारी है।

Posted By: Ajay Barve

fantasy cricket
fantasy cricket