अहमदाबाद। फ्लाइट और कबूतरबाजी का चोलीदामन का साथ रहा है। हवाई सफर कर अवैध तौर पर विदेश जाने को कबूतरबाजी का नाम दिया गया, लेकिन हम जिस कबूतरबाजी की बात कर रहे हैं, वो अलग है। अहमदाबाद हवाई अड्डे पर उड़ान भरने के लिए तैयार हवाई जहाज में दो कबूतरों के उड़ने से यात्रियों और फ्लाइट कर्मियों के होश उड़ गए। अहमदाबाद से जयपुर जाने के लिए गो एयर फ्लाइट जी-8-702 सायं 4.30 बजे एप्रन पर लायी गई। यात्री भी हवाई जहाज में बैठ गए। फ्लाइट का गेट भी बंद कर दिया गया। इसके बाद 4.50 बजे फ्लाइट टेक ऑफ के लिए रन वे पर लाई गई। तभी एक यात्री ने बैग रखने के लिए लगेज का शेल्फ खोला तो उसमें से दो कबूतर निकले। (नीचे देखिए वीडियो)

फ्लाइट में कबूतर देखते ही यात्री हैरान रह गए। कबूतर हवाई जहाज में एक किनारे से दूसरे किनारे तक उड़ने लगे। यात्री उन्हें पकड़ने का प्रयास करने लगे। इस सबसे अवगत क्रू मेम्बर्स से यात्रियों से शांति का अनुरोध किया। एयरलाइन्स कर्मियों ने ग्राउन्ड स्टाफ को इससे अवगत करवाया। आखिर कार फ्लाइट का गेट खोल काफी प्रयासों के बाद कबूतरों को बाहर निकाला गया। इस घटना से एयरलाइन्स के चौकचांबद होने के दावों की पोल खुल गयी। इस घटना के कारण फ्लाइट अपने निर्धारित समय 6.45 के बजाय 7.15 बजे जयपुर पहुंची।

अहमदाबाद एयरपोर्ट के आसपास नॉनवेज की दुकानों के कारण भी यहाँ पक्षियों की संख्या जादा रहती हैं। कोतरपुर वॉटर वर्क्स के पास पेड़ों की संख्या भी अधिक है। इसलिए भी पक्षी अधिक हैं। पक्षियों को रन वे से भगाने के लिए विशेष कर्मचारियों को तैनात किया जाता हैं। वे एरोगन से फायरिंग पटाखे दगा कर उन्हें भगाते हैं।

अहमदाबाद हवाई अड्डे पर बंदरों का भी आतंक अधिक है। बंदरों को भगाने के लिए भालू के वेश में कर्मचारियों को तैनात किया जाता हैं। इतनी सावधानी के बाद भी पक्षियों की इस प्रकार की घटनाएं होती रहती हैं।

Posted By: Arvind Dubey

fantasy cricket
fantasy cricket