सरासणा। सतर्क प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कैमरामैन और फोटोग्राफरों के एक समूह की अपनी सूझबूझ से जान बचा ली। यह वाकिया मोदी के सौनी जल परियोजना का उद्घाटन करने के दौरान हुआ। इस अनूठे वाकिये से साफ है कि सुरक्षा घेरे में रहने वाले पीएम खुद भी कितने मुस्तैद और संवेदनशील हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सौराष्ट्र की महत्वपूर्ण सौनी योजना के लिए मंगलवार को जामनगर के सरासणा गांव में थे। प्रदेश की भाजपा सरकार, प्रशासन व भाजपा नेता व कार्यकर्ता उनके लिए पलक पांवडे बिछाए। आजी-3 डैम पर रिमोट से बांध के चार दरवाजे खोलने के बाद मोदी बहते पानी को देखने रेलिंग पर पहुंचे तो इस मौके पर मोदी की नजर जल के बहाव क्षेत्र में खड़े कुछ टीवी कैमरामैनों और प्रेस फोटोग्राफरों पर पड़ी।

उन्हें इशारा कर मोदी ने तुरंत वहां से हटने को कहा और मीडिया के वह लोग तुरंत बचने के लिए बाहर निकले। इन मीडिया कर्मियों को बचने के लिए इतना कम समय मिला कि दूरदर्शन के कैमरामैन का तो कैमरा और स्टैंड भी पानी के तेज बहाव में बह गया।

उप मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने समारोह में इस संवेदनशील घटना का उल्लेख करते हुए कहा कि ऐसे मौके पर भी मोदी इतनी बारीकी से चीजों को देखते हैं। यदि मोदी उन कैमरामैनों और फोटोग्राफरों को हटने को नहीं कहते तो उनके साथ दुर्घटना हो सकती थी।

चूंकि कार्यक्रम को कवर करने के चक्कर में कैमरामैन और फोटोग्राफर आने वाले खतरे से वाकिफ नहीं थे। लेकिन ताली बजाकर और अपने दोनो हाथ हिलाकर पीएम ने मीडिया के लोगों को सतर्क कर दिया।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket