अहमदाबाद। लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जिस टी स्टॉल से अपने चर्चित चुनावी कार्यक्रम 'चाय पे चर्चा' की शुरूआत की थी उसे ट्रैफिक जाम की समस्या का कारण बताते हुए अहमदाबाद म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन (एएमसी) ने सील कर दिया है।

'इस्कॉन गंथिया टी शॉप' नाम की इस दुकान को 5 अगस्त को सील कर दिया गया था। एएमसी ने पश्चिमी अहमदाबाद के एक हाईवे पर स्थित आठ दुकानों वाले इस शॉपिंग कॉमप्लेक्स को सील कर दिया है जिसमें इस्कॉन गथिया नाम की यह चाय की दुकान भी थी। चाय पर चर्चा से सुर्खियों में आने के बाद इस दुकान का नाम नमो टी स्टॉल कर दिया गया था।

इस पूरे मसले पर एएमसी का कहना है कि कई चेतावनियों के बावजूद भी दुकान मालिक पार्किंग के लिए पर्याप्त जगह नहीं बना पाए थे जिस कारण हाइवे पर जाम और एक्सीडेंट हो रहे थे इसलिए हमें ये कदम उठाना पड़ा। एएमसी का कहना है कि दुकान को सील करने से पहले एएमसी के कर निरीक्षक कम से कम दो मौकों पर यहां गए और उन्‍होंने मालिकों से दुकान के मालिकाना हक और बिल्डिंग प्‍लान से संबंधित दस्‍तावेज मांगे जो मालिक पेश नहीं कर सके और इसी कारण इस दुकान को सील कर दिया गया।

मोदी की फोटो के साथ सुर्खियों में छाने वाली इस दुकान पर भाजपा के पीएम कैंडिडेट के तौर पर नरेंद्र मोदी बैठे थे और चाय पीते हुए उन्होंने लोगों से बातें की थी। मोदी ने यहां से 13 फरवरी 2014 को दो घंटे तक देश के 300 शहरों के लगभग 1000 चाय की दुकानों पर बैठे लोगों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये भी बात की थी।

गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री और वर्तमान पीएम नरेंद्र मोदी की चाय पीती हुई तस्वीर के साथ इस दुकान ने उस समय काफी सुर्खियां बटोरी थी। इस दुकान को एएमसी ने 5 अगस्त को सील कर दिया था।

Posted By:

  • Font Size
  • Close