अहमदाबाद। एक युवती की कथित जासूसी की जांच के लिए गुजरात सरकार की ओर से गठित दो सदस्यीय आयोग ने इस प्रकरण का खुलासा करने वाली वेबसाइट गुलेल डॉट कॉम को समन जारी किया। वेबसाइट के संस्थापक आशीष खेतान को 15 जनवरी तक हलफनामा दायर करने को कहा गया।

दो खोजी न्यूज वेबसाइटों कोबरा पोस्ट डॉट कॉम व गुलेल डॉट कॉम ने 15 नवंबर को दावा किया था कि गुजरात सरकार के पूर्व गृह राज्य मंत्री अमित शाह ने किसी साहब के इशारे पर एक महिला की अवैध जासूसी काआदेश दिया था।

उन्होंने अपने दावे के समर्थन में अमित शाह व निलंबित आइपीएस अधिकारी जीएल सिंघल के बीच बातचीत का टेप जारी किया था, लेकिन कहा कि उसकी प्रामाणिकता की पुष्टि नहीं की जा सकती।

आशीष खेतान ने फोन पर समन की पुष्टि करते हुए कहा, 'हमें जारी किए गए टेप के सिलसिले में आयोग के समक्ष 15 जनवरी तक हलफनामा दायर करने को कहा गया। हम अपनी कार्रवाई (जवाब दें या नहीं) पर बाद में फैसला करेंगे।

गौरतलब है कि जासूसी प्रकरण सामने आने पर विपक्षी पार्टियों व समाज के संगठनों के निशाने पर आने के बाद राज्य सरकार ने 26 नवंबर को इस आयोग का गठन किया गया था।

Posted By:

  • Font Size
  • Close