सूरत। गुजरात का सूरत शहर किसी भी मौके पर अपनी भावनाएं अपनी कला में दिखाने के लिए माहिर है। फिर चाहे वो चुनाव के पहले मकर संक्रांति की पतंगे हों या फिर सर्जिकल स्ट्राइक की डिजाइन वाली साड़ियां। अब इसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए सूरत के एक कलाकार ने अब स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन के मौके पर शानदार राखियां तैयार की हैं। इन राखियों में तिरंगे के अलावा जम्मू-कश्मीर से हटाई गई अनुच्छेद 370 की भी झलक है।

जानकारी के अनुसार सूरत से सराफा जारा में इन दिनों सोने और चांदी की राखियों की भरमार है और यहां के सराफा कारोबारी बिलकुल नई डिजाइन लेकर आए हैं जिनमें भारते के नक्शे पर तिरंगे के अलावा अनुच्छेद 370 लिखी राखियों की डिजाइन शामिल है। इन राखियों का संदेश एकता और केंद्र सरकार के कदम को सराहना भी है।

इन राखियों को बनाने वाले सराफा व्यापारी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि हर बार हम राखी पर अलग थीम के साथ बाजार में राखियां लाते हैं। इस बार केंद्र सरकार ने अनुच्छेद 370 और 35ए को लेकर फैसला लिया है और हमने तय किया है कि हम इस थीम के साथ ऐसी राखी बनाई है जो इस मौके के अलावा 15 अगस्त और रक्षाबंधन को भी रेखांकित करती हैं। चांदी की राखियां 500 रुपए से शुरू हो रही हैं।