सूरत, ब्यूरो। गुरुवार रात 11ः30 बजे 7 दिन की पुलिस रिमांड मिलने के बाद नारायण को सीधे क्राइम ब्रांच लाया गया। देर रात नारायण को सामान्य कैदियों के साथ लॉकअप में रखा गया। फिर खाना दिया गया। सूरत पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने बताया कि नारायण ने पुलिस से किसी खास किस्म के खाने की मांग नहीं की थी, लेकिन काजू बादाम और दूध की मांग जरूर की थी। हालांकि पुलिस ने नारायण की मांग स्वीकार नहीं की।

Posted By:

  • Font Size
  • Close