जूनागढ़। गुजरात के जूनागढ़ में अखबार के दफ्तर में घुसकर पत्रकार किशोर दवे की चाकुओं से गोदकर हत्या करने के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों से पूछताछ में आपसी रंजिश के कारण पत्रकार की हत्या करने का खुलासा हुआ है।

गौरतलब है कि किशोर दवे (53 वर्ष) राजकोट के दैनिक समाचार पत्र (गुजराती भाषा) जय हिंद सांझ के जूनागढ़ ब्यूरो चीफ थे। सोमवार रात वह चौथी मंजिल पर अपने कार्यालय में काम में व्यस्त थे। इसी दौरान दफ्तर में कुछ अज्ञात युवक आए और दवे पर चाकुओं से कई वार किए। उनकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई। जब दवे का सहायक कार्यालय आया, तब उसने पुलिस को हादसे की सूचना दी थी।

पुलिस के बताये अनुसार पत्रकार किशोर दवे के हत्यारों को पकड़ने के लिए पुलिस की तीन टीम को जांच में लगा दिया गया था। इस दौरान सीसीटीवी व मोबाइल लोकशन के आधार पर मंगलवार को पुलिस ने मुख्य आरोपी फिरोज हाला, संजय व आसिफ गामोती को गिरफ्तार कर लिया।

यह था हत्या का कारण

पुलिस की पूछताछ में मुख्य आरोपी फिरोज हाला ने कबूल किया कि वह और पत्रकार किशोर दवे साझेदारी में ट्रेवल्स का व्यवसाय करते थे। पिछले चार वर्ष से दोनों यह व्यवसाय से जुड़े हुए थे। एक दिन उसकी लड़की की तबियत खराब थी। उसने किशोर दवे से रुपए मांगे, परंतु उन्होंने देने से मना कर दिया। इसके बाद किशोर दवे के नाम पर ट्रेवल्स की तीन बसें थी। उसने इन तीनो बसों में से एक बस उसके नाम पर करने के लिए कहा। इस पर भी किशोर ने उन्हें मना कर दिया। वह इससे काफी व्यथित हो गया था। उसने अपने मित्र संजय और आसिफ के साथ किशोर दवे की हत्या का प्लान बनाया था। मौका देखकर तीनों ने उसकी हत्या कर दी।

Posted By:

  • Font Size
  • Close