अहमदाबाद। बच्चों का खेल कैसे जान का दुश्मन बन सकता है यह उदाहरण गुजरात के पोरबंदर में सामने आया है। यहां खेल-खेल में बच्चों ने माचिस जलाई और इसी माचिस ने इन बच्चों को जिंदा जला दिया।इस घटना में जहां तीन बच्चों की जिंदा जलने से मौत हो गई है वहीं चार अन्य गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती हैं।सूचना के बाद से मौके पर पहुंची पुलिस ने मामला दर्ज कर इसकी जांच शुरू कर दी है लेकिन गांव में हर किसी की जुबां पर इसी घटना का जिक्र है।

जानकारी के अनुसार, गुजरात के पोरबंदर जिले में शुक्रवार रात दिल दहला देने वाली घटना हुई। यहां एक गांव खेत में बने झोपड़े में अचानक आग लगने से यहां खेल रहे 7 बच्चें गंभीर रुपसे झुलस गए।

बताया जा रहा है कि पोरबंदर के हनुमानगढ़ क्षेत्र में स्थित तरसाई गांव की यह घटना है। यहां खेत में बने एक झोपड़े में उस रात सात बच्चे खेल रहे थे। खेल- खेल में बच्चों ने माचिस की तिली से चूल्हें में आग लगाई। यह आग एकाएक भभक उठी है और उसने झोपड़ी को चपेट में ले लिया।

इस आग की चपेट में बच्चे भी आ गए और चीखपुकार मच गई। बच्चों की चिख-पुकार सुन आसपास व गांव के लोग पहुंच गये। देखते ही देखते आग 25 फुट ऊंचाई तक फैल गई। इस घटना में सात में से दो बालकों ने भागकर जान बचा ली, जबकि पांच बच्चें वहीं ढेर हो गए। जिसमें तीन बच्चों की मौत हो गई । जबकि अन्य दो बच्चे घायल हो गए।

पुलिस ने बताया कि यहां खेत में बने झोपड़े में सात बच्चे खेल रहे थे। उनके मां-बाप खेतों में काम कर रहे थे। खेल-खेल में बच्चों ने चूल्हे में माचिस की तिली जलाकर फेंकी इससे भभकी आग ने झोपड़े को अपनी चपेट में ले लिया। अचानक लगी इस आग में सभी सात बच्चे फंस गए।

हालांकि, इनमें से दो किसी तरह भाग निकले, जबकि तीन की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। जबकि दो बच्चे घायल है। पुलिस ने बताया कि घायल बच्चों की हालत स्थिर है। उनका उपचार चल रहा है। घटना के चलते गांव में शोक का माहौल छां गया है। फिलहाल मामला दर्ज शव को पोस्टमोर्टम के लिए भेज दिया है।

Posted By: Ajay Barve

fantasy cricket
fantasy cricket