आर्थिक तंगी से परेशान एक दाउदी वोहरा परिवार के पांच सदस्‍यों ने जहर पीकर सामूहिक आत्‍महत्‍या कर ली। गुजरात के दाहोद जिले में शुक्रवार सुबह यह घटना प्रकाश में आई। मृतक के पिता ने बताया कि साली से सोना लेने के चलते उनका पुत्र सौफी दुधियावाला आर्थिक रूप से दबाव में था। साली उसे लगातार प्रताडित कर रही थी जिससे परेशान होकर उसने यह आत्‍मघाती कदम उठा लिया। पुलिस इस घटना के विविध पक्षों की जांच कर रही है।

दाहोद के सुजाई बाग इलाके में रहने वाला सौफी दुधियावाला (42) के परिवार में उसकी पत्‍नी मेजबिल दुधियावाला (35) पुत्री अरवा (16) तथा दो पुत्र जैनब (14), हुसैन (7) रहते थे। गुरुवार रात्रि इन सभी ने जहर पीकर जान दे दी। परिवार में केवल सौफी भाई के पिता शब्बीरभाई दुधियावाला ही जिंदा बचे हैं। उन्होंने पुलिस को बताया कि जब सुबह उन्होंने देखा की उनका बेटा और उसके परिवार के सभी सदस्य बेहोश पड़े है तब उन्होंने तुरंत पडोसियों को इसकी सूचना दी ओर मदद के लिए बुलाया। परिवार आर्थिकरुप से कमजोर था इसके लिए सौफी ने कर्जा ले रखा था जिसके बढ जाने से वह काफी चिंतित था।

पुलिस की पुछताछ में शब्बीरभाई ने बताया कि उसके परिवार की आर्थिक हालत खराब थी इस बारे में उन्हें पता था। उनके बेटे सौफी ने अपनी साली से सोना लिया था और उसके कारण वह दबाव में रहता था। उसकी साली कई दिनों से उसे प्रताडित कर रही थी। पुलिस ने बताया कि फिलहाल मामले की हर पहलू से जांच की जा रही है। शवों को पोस्टमोर्टम के लिए भेज दिया गया है।

माता-पिता व भाई निकले हत्‍यारे

सुरेंद्रनगर जिले के एक गांव में 27 जनवरी को मिले एक क्षत विक्षत शव की गुत्‍थी को सुलझाते हुए पुलिस ने हत्‍या के मामले में युवक के माता- पिता व भाई को गिरफ़तार किया है। पुलिस ने पथा भाई की हत्‍या की गुत्‍थी सुलझाने के लिए कई माह तक इस मामले की जांच की तथा शक के दायरे में आए उसके भाई की गतिविधियों पर नजर रखी जिसके बाद उन्‍हें इसमें सफलता मिली। पुलिस निरीक्षक डी एम ढोल नेबताया कि पिता सागर भाई व भाई ठाकरशी ने जब पुलिस थाने आकर पथाभाई के गुमशुदा होने की सूचना दी तब से उन पर शक था। पुलिस पुछताछ में पता चला कि पथाभाई शराबी था तथा शराब के लिए घर में चोरी व झगडा करता था। आशंका है कि इससे परेशानहोकर ही परिवार के सदस्‍यों ने ही उसकी क्रूरहत्‍या कर दी। जनवरी में उसका धड व सिर अलग अलग जगह से बरामद हुए थे। पुलिस लंबे समय तक शव की पहचान तक नहीं कर पाई थी। सागर भाई के आस पडौस वालों ने जब पुलिस को बताया कि 26 जनवरी को लापता हुए पथाभाई के घर को परिवार वालों ने सुबह जल्‍दी धोकर साफ किया था। पुलिस को इसी बात से शक हुआ और इस दिशा में जांच शुरु कर दी। बाद में पता चला कि घर वाले उसके झगडालू स्‍वभाव व शराब की लत से परेशान थे। कुछ दिन पहले ही पथाभाईने घर में रखे फसल के रुपऐ चुरा लिये थे। सागर ने उसके लापता होने के बाद अपनी पुत्रवधु को कहा बताया कि वह अब अपने पीहर में ही रहे उसका पति वापस नहीं आने वाला है।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close