अमरेली (गुजरात)। गिर फॉरेस्ट के पास तेजगति से जा रही मालगाड़ी के नीचे आ जाने से दो शेरनियों की मौत हो गई। घटनास्थल सुरेंद्र नगर पीपावव पोर्ट रेल लाइन के नजदीक बताई गई है।

डिप्टी फॉरेस्ट आफिसर जे.के. मकवाना ने बताया, बुधवार सुबह तेजगति मालगाड़ी के नीचे आ जाने से राजुला तालुका के बेराई गांव के पास दो शेरनियों की मौत हो गई। दो शेरनियों के इस तरह से मारे जाने की यह एक बड़ी घटना है। एक साल पहले भी एक शावक की इसी लाइन में एक ट्रेन के नीचे आ जाने से मौत हो गई थी।

मकवाना ने बताया, गिर फॉरेस्ट से लगभग 30-40 किलोमीटर दूर यह हादसा हुआ। अक्सर इस क्षेत्र में भी शेरों को देखा जाता है। शेर के एक जोड़े की 15 साल पहले भी सासन फॉरेस्ट के पास एक ट्रेन के नीचे आ जाने से मौत हो गई थी। इसके बाद इस क्षेत्र में ट्रेनों को धीमी गति से चलाए जाने के निर्देश दिए गए थे, जिसके परिणामस्वरूप इस क्षेत्र में इस तरह की वारदातें कम हो गई थीं।

मकवाना ने कहा, इस तरह की घटनाएं न हों, इसके लिए इस हादसे के लिए जिम्मेदार सभी पक्षों से सुझाव लिया जाएगा। एशियाई शेरों की अच्छी खासी संख्या के लिए गिर फॉरेस्ट का नाम आता है। पिछली गणना के मुताबिक गिर फॉरेस्ट के आसपास शेरों की संख्या 411 बताई गई थी।

Posted By:

  • Font Size
  • Close