गिर सोमनाथ। गुजरात में वायु तूफान ने दस्तक दे दी है, इसका असर तटीय इलाकों में दिखाई देने लगा है। इसे लेकर गुजरात में केंद्र और राज्य सरकार द्वारा अलर्ट जारी किया गया है। इस बीच गुरुवार को प्रसिद्ध सोमनाथ मंदिर में रोजाना की तरह ही दिनचर्या अपनाई गई। यहां विधि विधान से पूजा अर्चना करने के साथ ही भगवान सोमनाथ की प्रार्थना की गई।

सोमनाथ मंदिर प्रबंधन द्वारा अलर्ट के बावजूद मंदिर को खुला रखने के निर्णय का गुजरात के मंत्री भूपेंद्र सिंह चूडास्मा ने भी समर्थन किया है। उन्होंने कहा 'मंदिर बंद नहीं रह सकता है। हमने पर्यटकों से अपील की है कि वे मंदिर ना जाएं, लेकिन दशकों से होने वाली आरती को नहीं रोका जा सकता है। यह प्राकृतिक घटनाक्रम है, सिर्फ प्रकृति ही इसे रोक सकती है। हम प्रकृति को रोकने वाले कौन होते हैं।'

अलर्ट के बावजूद भी गुरुवार सुबह कई श्रध्दालु मंदिर पहुंचे थे। भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक तूफान ने देर रात अपना रास्ता बदल लिया है। हालांकि पश्चिमी तटीय इलाकों में अब भी हाई अलर्ट है। अगले 24 से 48 घंटों तक तेज हवाओं के साथ ही समुद्र तूफान की आशंका बनी हुई है।

बता दें कि गुजरात में चक्रवाती तूफान वायु को लेकर केंद्र और राज्य सरकार द्वारा अलर्ट जारी किया गया है। इस तूफान से कम से कम जन-धन हानि हो इसके लिए पहले से ही तैयारियां शुरू कर दी गई थी। तटीय इलाकों और तूफान की जद में आने वाले संभावित इलाकों में से पहले ही लाखों की संख्या में लोगों को निकालकर दूसरे स्थानों पर भेजा जा चुका है। पश्चिम रेलवे द्वारा भी 14 जून तक चिन्हित इलाकों में रेल सेवा को बंद किया गया है।

Posted By: Neeraj Vyas